बेहद सुन्दर त्वचा पाएँ इस 10 स्टेप वाला कोरियन स्किनकेयर तकनीक के साथ! यहाँ पाएँ एक शुरुआती गाइड, तकनीक और भारतीय त्वचा के लिए उपयुक्त सभी उत्पाद (2019)

बेहद सुन्दर त्वचा पाएँ इस 10 स्टेप वाला कोरियन स्किनकेयर तकनीक के साथ! यहाँ पाएँ एक शुरुआती गाइड, तकनीक और भारतीय त्वचा के लिए उपयुक्त सभी उत्पाद (2019)

खिला हुआ और ग्लोइंग चेहरा किसको नहीं चाहिए ? आजकल हर कोई चाहता है कि वह सुंदर दिखे। हम आपको समझते हैं इसीलिए हम आपके लिए ऐसे 10 कोरियन त्वचा की देखभाल के लिए कुछ कदम लाए हैं जिन्हें इस्तमाल करके आपका चेहरा बेहद शानदार लगने लगेगा और हर कोई आपके चेहरे की तारीफ करेगा। हम यहां इसलिए लाए हैं क्योंकि उन्हें चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने में महारत हासिल है। इनके साथ-साथ हमने आपको कई महत्वपूर्ण बातों के बारे में भी बताया है। अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें ।

10 चरण वाली कोरियाई स्किनकेयर प्रणाली में क्या खास बात है?

क्या आप अपना सारा दिमाग यह जानने में खपा रहें है की 10 चरण वाला कोरियाई स्किनकेयर रूटीन क्या है? तो आप अभी बिलकुल सही स्थान पर हैं. यहां आपको इस जटिल स्किनकेयर प्रणाली और उससे सम्बंदित उत्पाद की हर आवश्यक जानकारी मिलेगी।

जबकि बाकी सारी दुनिया सीटीएम (क्लीन-टोन-मॉइस्चराइज़) के प्रक्रिया पर अटक हुई है, वहीँ कोरियाई लोगों ने स्किनकेयर के लिए अलग और बारीक दृष्टिकोण का पालन किया है, जिसे कोरियाई महिलाओं (और पुरुषों) के प्रसिद्ध दोषहीन 'कांच की त्वचा'(ग्लास स्किन) के लिए श्रेय दिया गया है। यहां हम ऐसे कुछ करणों के बारे में बताएँगे जिससे यह प्रक्रिया इतनी लोकप्रिय हुई है.

  • व्यापक और सुविधाजनक: 10-चरण की प्रक्रिया थोड़ी जटिल और हाई मेंटेनेंस लगती है, लेकिन इसमें स्किनकेयर के सभी महत्वपूर्ण पहलुओं को शामिल किया गया है जो आपके पूरे जीवन में शानदार त्वचा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक हैं। हाइड्रेटिंग से लेकर आपकी आंखों की देखभाल तक, इस प्रणाली में सब कुछ शामिल है। यह प्रक्रिया आपके स्किन केयर के सभी पहलुओं का ध्यान रखता है. इसकी एक और विशेषता यह है की इसे हम अपनी आवश्यकताओं और वरीयताओं के आधार पर चुन सकते हैं।

  • लेयरिंग का सिद्धांत: लेयरिंग की नींव को ध्यान में रखकर इस दिनचर्या को 10 अलग अलग चरणों में विभाजित किया गया है। इस प्रक्रिया में किसी एक या दो दर्लभ उत्पाद के फॉर्मूले पर निर्भर नहीं होते है. जैसे हमारे शरीर के स्वास्थ्य के लिए हमें भिन्न अवयवों(विटामिन, कैल्शियम, प्रोटीन इत्यादि) की आवस्यकता होती है ठीक वैसे ही इस प्रक्रिया में त्वचा के विभिन्न मुद्दों से निपटने के लिए अलग उत्पादों का उपयोग किया जाता है जिस काऱण यह प्रक्रिया हमें एक गुणक प्रभाव देती हैं

  • विशेष रूप से तैयार उत्पाद:जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, प्रत्येक उत्पाद एक विशिष्ट उद्देश्य के साथ तैयार किया गया है। सामग्री को ध्यान से पारंपरिक और वैज्ञानिक ज्ञान के आधार पर चुना जाता है। इसलिए आप एक ऑल-इन-वन दृष्टिकोण के बजाय, अपनी आवश्यकता और वरीयता के आधार पर अपने व्यक्तिगत उत्पाद और प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप मुँहासे प्रभावित हैं, तो आप पहले ऐसे उत्पाद का प्रयोग कर सकते हैं जो आपकी त्वचा पर तेल को नियंत्रित करता है, और फिर बाद में हाइपरपिग्मेंटेशन या मुँहासे के निशान को कम करने के लिए एक और पदार्थ का प्रयोग कर सकते हैं। इस प्रकार से आप अपनी त्वचा से सम्बंदित समस्या के आधार पर आप एक व्यक्तिगत प्रणाली तय कर सकते हैं जो त्वचा को एक गुणक प्रभाव देता है.

10 चरण वाली कोरियाई स्किनकेयर दिनचर्या

स्टेप 1:आयल क्लीन्ज़र

दोहरा शोदन या डबल क्लींजिंग कोरियाई स्किनकेयर की एक विशिष्ट विशेषता है. यह त्वचा को पूर्णतः साफ़ करने और उसपर उपस्थित छिद्रों से अवरोध को हटाने के लिए दोहरा शोदन(डबल क्लेन्सिंग) किया जाता है ताकि इसके पश्चात त्वचा पर जो भी उत्पाद लगाया जाये उसको त्वचा पूर्ण तरह से अवशोषित करे. इसके दो चरण है जिनमे पहला चरण तेल-आधारित शोदन शामिल है और दूसरा सामान्य जल-आधारित शोदन। पहले चरण से आरम्भ करते है।

  • विशेषता: तेल
    आधारित शोदन, कांटे को काँटा निकलता है, इस सिद्धांत पर काम करता है. इस प्रक्रिया में तेल-आधारित शोदन का उपयोग त्वचा पर उपस्तिथ तैलीय परत को हटाने के लिए किया जाता है. आमतौर पर इनमे एक साधारण तेल आधारित बेस के साथ सर्फेक्टेंट होता है जो मेकअप हटाने में इस्तेमाल किया जाता है

  • कैसे उपयोग करें
    क्लीन्ज़र की एक छोटी सी बूँद ले और और उसे अपने चेहरे पर लगाए, चेहरे का गीला होना आवश्यक नहीं है. इससे अपने चेहरे कुछ मिनट तक हलके से मालिश करे और ध्यान रहे की अपनी हतेली को वृताकार में चलाये ताकि आप सीबम और मेकअप के अवयवो पूरी तरह से निकल जाये.

स्टेप 2: वाटर क्लेंसेर

Source beautybarn.in

अगला चरण जल-आधारित शोदन (वाटर बेस्ड क्लेन्सिंग) है. इसमें एक बड़ी समस्या यह है की आमतौर पर वाटर बेस्ड क्लेंसेर काफी गहन और कठोर होते है जो त्वचा के नाज़ुक संतुलन को हानि पहुंचा सकते हैं. इससे की त्वचा में जलन पैदा हो सकता है.

  • विशेषता: साधारणत
    जहाँ जल-आधारित शोदन (वाटर बेस्ड क्लेन्सिंग) उत्पाद जमी हुई गन्दगी और कीट को साफ़ करने के लिए सर्फेक्टेंट का उपयोग करते हैं वहीँ कोरियाई उत्पादो की संरचना बिलकुल कोमल होती है जिससे त्वचा पर कठोर प्रभा नहीं पड़ता। ये क्लीन्सिंग झाग त्वचा को बिना किसी नुकसान के प्रभावी ढंग से छिद्रो को साफ़ करने में मदद करते हैं. यही विशेषता इनको अन्य उत्पादों से अलग और खास बनती है

  • कैसे उपयोग करें
    यह काफी सामान्य प्रक्रिया है बस थोड़ी सी मात्रा में ये क्लेंसेर ले और आयल क्लीन्ज़र को धो लेने के बाद इसे इस्तेमाल करे

स्टेप 3: एक्सफोलिएटर

एक्सफोलिएशन एक महत्वपूर्ण कदम है जो मृत त्वचा की कोशिकाओं को हटाने में मदद करता है और नई त्वचा के टिश्यू के विकास को भी बढ़ावा देता है. जिसके परिणामस्वरूप, त्वचा उज्जवल और चमकदार दिखती है। हालांकि, यह दैनिक दिनचर्या का हिस्सा नहीं है, विशेषज्ञों की सलाह है कि सप्ताह में सिर्फ दो बार एक्सफोलिएशन करना काफी है.

  • विशेषता
    मुख्य रूप से एक्सफोलिएशन दो प्रकार के हैं - पहला भौतिक जिसमे मास्क, पील या स्क्रब आदि का उपयोग करते हैं और दूसरा रासायनिक, जिसमें ग्लाइकोलिक एसिड जैसे हल्के एसिड वाले उत्पाद का उपयोग करते हैं। के-सौंदर्य में इस कदम के महत्व को देखते हुए, इसमें हमे चुनने के लिए विकल्प है। उत्पादों का चयन उनका उपयोग करते समय थोड़ा सावधानी बरते क्यूंकि अत्यादिक एक्सफोलिएशन से त्वचा नुकसान हो सकता हैं.

  • कैसे उपयोग करें
    स्क्रब्स और वाश-ऑफ मास्क्स प्रायोग सप्ताह में एक बार करें। अगर आप तरल एक्सफोलिएटर्स का इस्तेमाल करते है तो चेहरे पर हलके से मालिश करे या थपथपाएं। आप एक्सफ्लोएटिंग पैड्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं

स्टेप 4: टोनर

Source www.amazon.in

आमतौर पर अलकोहल बेस्ड टोनर्स का प्रयोग त्वचा को शुष्क बना देता है और साथ ही त्वचा के छिद्र भी बंद हो जाते हैं. लेकिन कोरियाई टोनर्स त्वचा को स्पस्ट और सुखदायक बनाते हैं.

  • विशेषता:
    आम तौर पर के-ब्यूटी टोनर्स हलके फॉर्मूलेशन वाले होते हैं जो त्वचा को संतुलित करने और क्लींजिंग प्रक्रिया के बाद बचे अवशिष्ट उत्पादों को साफ करने की कोशिश करते हैं। इन उत्पादों का उद्देश्य पीएच अंक को सामान्य करना, त्वचा को मॉइस्चराइज करना और हाइड्रेट करना है। टोनिंग बाद में इस्तेमाल होने वाले अन्य उत्पादों के लिए त्वचा को तैयार करने में भी मदद करता है। टोनर विभिन्य प्रकार के अवयवों में उपलब्ध है जो हर त्वचा की समस्या के लिए अनुकूलित हैं।

  • कैसे उपयोग करें:
    चूंकि इन उत्पादों में आमतौर पर पानी की मात्रा अधिक होती है, इसे अपनी हथेली लेकर और फिर अपनी उंगलियों से हलके से थपथपा कर त्वचा पर लगा सकते हैं। या फिर आप रुई का भी इस्तेमाल कर सकते हैं

स्टेप 5: एसेंस

Source beautybarn.in

आमतौर पर खुबसूरत बोतलों में पैक किये गए एसेंस, हल्के उत्पाद होते हैं जिन्हें क्लींजिंग और टोनिंग के बाद मोईस्चरैजर की पहली परत की तौर पे इस्तेमाल किया जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं |

  • विशेषता:
    एसेंस मॉइस्चराइजिंग / हाइड्रेटिंग तत्वों और विशेष गुणों वाले ख़ास सामग्रियों को मिला कर बनाये जाते हैं | वे आपकी त्वचा को नम और कोमल बनाने के लिए अत्यधिक लाभकारी होते हैं और आपकी त्वचा सम्बंधित समस्याओं को दूर करने के लिए बिलकुल सही सामग्री प्रदान करते हैं। एसेंस पतले लोशन हो सकते हैं, या अधिक गाढे तरल हो सकती है।

  • कैसे उपयोग करें:
    अपने चेहरे को टोनर को अवशोषित करने दें और फिर अपनी दोनों हथेलियों पर उत्पाद का थोड़ा सा हिस्सा लें। धीरे से अपने हाथों को चेहरे पर दबाएं, और थपथपाएं ताकि उत्पाद त्वचा में अच्छी तरह से घुस जाए।

स्टेप 6: सीरम / अम्पौल्स

Source www.nykaa.com

ज्यादातर लोग सीरम और एसेंस के बीच के अंतर को ठीक से नहीं समझते हैं। क्यूंकि अक्सर, इन्हें ब्यूटी थेरेपी के रूप में एक साथ रखा जाता है, पर पारंपरिक के- ब्यूटी तकनीक में, सीरम और अम्पौल्स, एसेंस से अलग होते हैं।

  • विशेषता:
    जहाँ सीरम और अम्पौल्स बहुत ही गाढे तरल हैं जिनमे आमतौर पर एक-स्टार घटक (या शायद दो) होते हैं। इन्हें कुछ विशेष समस्याओ जैसे एजिंग, हाइपरपिग्मेंटेशन, लालिमा आदि को ध्यान में रखते हुए विशेष तरीके से बनाया जाता हैं। इसलिए यदि आपकी समस्या एंटी-एजिंग हैं, तो आप अपने सीरम / अम्पौल्स में सेरामाइड जैसे अवयवों की तलाश कर सकते हैं। आप यह भी देखेंगे कि अधिकांश सीरम /अम्पौल्स केवल कम मात्रा में ही आते हैं, और काफी गाढे होते हैं।

  • कैसे उपयोग करें:
    चूँकि ये काफी गाढे होते हैं इसलिए, आपको उत्पाद की केवल कुछ बूँदें ही चाहिए। कुछ लोग इन्हें केवल चेहरे के समस्या वाले क्षेत्रों पर लगाते हैं, जबकि अन्य पूरे चेहरे पर एक पतली परत के रूप में लगाना पसंद करते हैं। इन्हें लगाने के लिए अपनी उंगलियों का उपयोग करें और अपनी ठोड़ी पर शुरू करके ऊपर की ओर जाइए |

स्टेप 7: शीट मास्क

असल में शीट मास्क एक के-ब्यूटी अवधारणा है | शीट मास्क एक अद्भुत तरीका है, जिससे आपका चेहरा अच्छे और पोषक तत्वों को अच्छी तरह अवशोषित करता है।

  • विशेषता:
    ये बहुत ही पतले कपड़े की बनी शीट्स होती हैं जिन्हें उन सभी पोषक सामग्रियों में डुबोया गया होता हैं जो त्वचा के लिए अच्छे हैं। इस तरह से यह एक गाढ़ा तरल पुरे चेहरे पर समान रूप से फैला देता है और त्वचा को उन्हें सोखने में भी आसानी होती हैं| इन शीट मास्क का बस एक बार उपयोग हो सकता हैं और ये अलग अलग तत्व के लिए अलग अलग मिलती हैं।

  • कैसे उपयोग करें
    इस उपाय को आमतौर पर रात की दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। पहले अपना चेहरा साफ़ करें और पूरी शीट को अपने चेहरे पर रखें। इसे 30-40 मिनट तक रहने दें और फिर हटा दें। इससे चेहरे को आरामदायक अहसास भी होता है|

स्टेप 8: आई क्रीम

Source www.amazon.in

आंख के चारों ओर बहुत ही संवेदनशील और नाजुक त्वचा होती है| यहीं आपको उम्र बढ़ने के पहले लक्षण दिखाई देते हैं। आँखों के चारों ओर महीन रेखाएँ, झुर्रियाँ, ढीली त्वचा ये कुछ ऐसी समस्याए हैं जो बहुत जल्दी दिखाई देते हैं। इसलिए कोई आश्चर्य नहीं कि कोरियाई ब्यूटी इस क्षेत्र पर पूरा ध्यान देती है।

  • विशेषता:
    पतली त्वचा को भरा भरा रखने और डार्क सर्कल, पफनेस और फाइन लाइन्स जैसी समस्याओं से निपटने के लिए नियमित रूप से आई क्रीम का इस्तेमाल किया जाता है। कोरियाई आई क्रीम को आपकी आंखों की देखभाल के लिए आवश्यक पोषण देने के लिए विशेष रूप से तैयार किया जाता है।

  • कैसे उपयोग करें:
    अपनी उंगलियों पर थोड़ी सी क्रीम लें, फिर धीरे-धीरे इसे आंख के निचे और बाजू के चारो तरफ लगाएं और इसे सोखने तक मालिश करें।

हमारी पसंद:

स्टेप 9: मॉइस्चराइज़र / स्लीपिंग मास्क

हम सब इस स्टेप से अच्छी तरह परिचित है| मॉइस्चराइजिंग ही वह जरिया होता है जिससे आप अपने चेहरे पर लगाए गए पुरे मेकअप को सील कर सकती है। सही मॉइस्चराइज़र आपको साफ़, चमकदार और ताज़ी त्वचा प्रदान करता है।

  • विशेषता:
    के-ब्यूटी में, मॉइस्चराइज़र बहुत हैवी नहीं होते हैं। यह एक बहुत ही जरूरी और अच्छी बात है क्योंकि इससे रोम छिद्र बंद होने की संभावना कम हो जाती है और यह त्वचा की चिपचिपाहट को भी खत्म कर देता है। के-ब्यूटी इसलिए भी स्पेशल है क्योंकि इसमें विकल्पों की एक अविश्वसनीय रेंज है जिसमें तैलीय त्वचा के लोगों के लिए हल्की क्रीम या जैल से लेकर शुष्क त्वचा वाले लोगों के लिए भारी क्रीम तक सब उपलब्ध है और हर क्रीम या गेल में अपने खास तत्व होते है। इसलिए अपना मॉइस्चराइज़र चुनने से पहले उसमे मौजूद तत्वों के बारे में अच्छे से जान लें और साथ ही साथ अन्य उपभोक्ताओ के रिव्यु भी पढ़ लें और अगर आप स्लीपिंग मास्क के बारे में सोच रहे हैं तो के-ब्यूटी एक भारी उत्पाद हैं जो रात भर आपकी त्वचा को पोषण देता हैं।

  • कैसे उपयोग करे:
    एक बार सीरम और आई क्रीम सोख लेने के बाद अपने चेहरे पर क्रीम की एक पतली परत लगायें। जबकि स्लीपिंग मास्क को रात भर के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसलिए सर्वोत्तम परिणामों के लिए एक मोटी परत के रूप में ही इसका इस्तेमाल करे।

स्टेप 10: सनस्क्रीन

Source www.amazon.in

कोरियाई स्किनकेयर रूटीन का अंतिम चरण सूरज की कठोर अल्ट्रा वायलेट किरणों से खुद को बचाने के लिए सनस्क्रीन का उपयोग है। यह एक ऐसा स्टेप है जिसका कोरियाई ब्यूटी तकनीक में बहुत अधिक महत्व है, क्योंकि यह माना जाता है कि सूरज की किरणों की वजह से त्वचा पर समय से पहले बूढी हो सकती है। तो भले ही आप अपना पूरा दिन अपने ऑफिस में या अपने घर के अंदर बिताएं आपको कभी इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिये |

  • विशेषता:
    कई नियमित सनस्क्रीन हैवी और ऑयली लगते हैं और इससे भी बुरा ये की ये अक्सर एक सफेद परत छोड़ देते हैं| जबकि आप पाएंगी कि कोरियाई सनस्क्रीन हल्के और ऑयली ना होते हुए भी आपको पूरी सुरक्षा प्रदान करते हैं। इन सनस्क्रीन को विशेष रूप से अलग अलग प्रकार की त्वचा के लिए तैयार किया जाता है, ताकि आपको आपकी त्वचा के अनुसार सही उत्पाद मिल सके |

  • कैसे उपयोग करें:
    मेकअप से पहले जो आखरी चीज आपके चेहरे पर लगे वो सनस्क्रीन होनी चाहिए| इसे बस एक पतली परत के रूप में लगाये और इन्तेजार करे ताकि मेन मेकअप लगाने से पहले यह अच्छी तरह त्वचा में अवशोषित हो जाये।

क्या इतने सारे स्टेप से आप घबरा रही हैं? जरा ठहरिये!

ऊपर बताये गए सभी दस स्टेप को देखकर थोड़ी घबराहट महसूस हो रही है, है ना? अगर आपको यह लगता है की ये बहुत ज्यादा है और आपसे नहीं होगा तो जरा ठहरिये। इससे पहले की आप के-ब्यूटी के आइडिया को ड्राप करे जरा इन बातो पर भी विचार कर ले ताकि आप के-ब्यूटी तकनीक को अच्छे से समझ ले जिससे आपका समय और पैसा दोनों बचेगा | साथ ही आप सभी 10 स्टेप के लंबे समय तक खींचे जाने वाले चक्कर से भी बच सकेंगी ।

पहली बात तो यह की सभी 10 चरणों की आवश्यकता बिलकुल नहीं है | हाँ, सभी 10 स्टेप एक आदर्श स्थिति जरूर हैं, पर असल में, बहुत कम लोग ही इन सभी 10 स्टेप का पालन करते हैं। के-ब्यूटी का अद्भुत पहलू यह भी है कि आप अपनी त्वचा की जरूरत के अनुसार उपाय चुन सकती हैं । इसलिए आप पूरी तरह स्वतंत्र है अपने पसंद के उत्पाद, सामग्री और स्टेप चुनने के लिए जिससे आप अपनी त्वचा को और बेहतर कर सके । आप इन उपायों को अपनी त्वचा में होने वाले बदलाव के साथ साथ परिवर्तित भी कर सकती हैं, अगर आप चाहे तो दिन के समय कम समय लेने वाले स्टेप और रात में ज्यादा समय लेने वाले स्टेप को आजमा सकती हैं | यह पूरी तरह आप पर निर्भर करता है|

कॉम्बो / ऑल-इन-वन उत्पाद: कोरियाई सौंदर्य कंपनियां यह अच्छी तरह समझती हैं की सभी के पास इन सभी उत्पादों का उपयोग करने के लिए समय नहीं होता, इसी लिए इन कंपनियों ने कई कॉम्बो / ऑल-इन-वन उत्पाद भी बनाए हैं जिसले विभिन्न उत्पादों के के गुण एक ही जगह मिल जाते हैं | तो अगर आपको लगता है कि 10 स्टेप की प्रक्रिया मूर्खतापूर्ण है, तो कोरियाई ब्यूटी ट्रेंड छोड़ने से पहले एक बार इन कॉम्बो उत्पादों को जरूर आज़माएं।

ध्यान रखे : नए प्रयोग ही खूबसूरती के इस खेल का रहस्य है

तो क्या आप अपनी के-ब्यूटी यात्रा शुरू करने के लिए उत्सुक हैं? पर इससे पहले की आप शुरू करे एक बात का ध्यान जरूर रखें कि, एक ही उत्पाद अलग अलग लोगो के लिए अलग अलग परिणाम दे सकते हैं। इसलिए अगर कोई उत्पाद किसी एक व्यक्ति के मुँहासे घटने में कामयाब रहता है, तो यह जरूरी नहीं की ये दूसरे के लिए भी ऐसे ही परिणाम दे - आनुवांशिकी, आहार, जीवन शैली और तनाव का स्तर भी काफी हद तक परिणामो को प्रभावित करते हैं। इसलिए किसी एक तरीके से खुद को बंधने के बजाय खुला रवैया रखें और नए प्रयोगों के लिए तैयार रहें। तुरंत नहीं तो कुछ दिनों में ही सही पर आपको आपकी समस्या का समाधान जरूर मिल जायेगा |

From our editorial team

एक और जरूरी बात

अब हमने आपको सब कुछ बता ही दिया है , तो अब इन्हें ट्राई करने की बारी आपकी है। किसी भी प्रोडक्ट को ट्राई करने से पहले उसके ऊपर स्किन वार्निंग जरूर चेक कर ले ताकि बाद में आपको कोई परेशानी ना हो। हमने आपको जो भी प्रोडक्ट बताया है वह बढ़िया क्वालिटी के हैं और आप उन्हें उनकी वेबसाइट पर जाकर उन्हें खरीद सकते हैं । पुरा अनुच्छेद पढ़ने के लिए धन्यवाद ।