क्या आप दिवाली व्यंजनों की तलाश में है(2021)?   स्वादिष्ट भोजन की एक सूची जिसमें दिवाली मिठाई व्यंजनों को शामिल किया गया है, साथ ही कुछ स्वस्थ मिठाइयां जो ऑनलाइन उपलब्ध है

क्या आप दिवाली व्यंजनों की तलाश में है(2021)? स्वादिष्ट भोजन की एक सूची जिसमें दिवाली मिठाई व्यंजनों को शामिल किया गया है, साथ ही कुछ स्वस्थ मिठाइयां जो ऑनलाइन उपलब्ध है

Source sukhis.com

स्वादिष्ट मिठाइयों के साथ अपने स्वास्थ लाभ देखना भी जरूरी है। कुछ परिवार घर में बनी मिठाईया पसंद करते है,तो कुछ परिवार समय बचाने के लिए मिठाईया दुकानों से खरीदते है।हमने कुछ स्वस्थ दिवाली मिठाइयों की रेसिपीयो का चयन किया है जिन्हे सरलता से घर पर बनाया जा सकता है। आप अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए,अपनी पसंदीदा मिठाइयों का चयन कर सकते है।

दिवाली और मिठाईया ।

दिवाली, लाखो लोगो द्वारा बेशब्री से इंतजार किये जाने वाला भारत का सबसे बड़ा त्यौहार है :- क्योकि रौशनी का यह त्यौहार व्ही समय है जब लोग अपनी बड़ी खरीददारी जैसे सोना, आभूषण, गाड़ियां, जमीन, कपडे और घर के अन्य सामान इत्यादि खरीदने की योजना बनाते है। दिवाली अर्थव्यवस्था को एक बड़ा बढ़ावा प्रदान करता है और लाखो छोटे और मध्यम व्यापारीयो और कर्मियों को इस त्यौहार से काम मिलता है। बहुत से लोग अपने घरों को पेंट करवाते हैं, सफेदी करवाते हैं, गृह प्रवेश पार्टियों का आयोजन करते हैं, और अक्सर घर के नवीनीकरण का कार्य भी दिवाली से पहले ही किया जाता है।

लेकिन आर्थिक पहलू के आलावा भी, दिवाली सामाजिक बंधनो को मजबूत करने का एक अवसर भी है :- अपने करीबी और प्रेमजनो को कपडे, बर्तन, सजावट की वस्तुए और मिठाईया इत्यादि उपहार के रूप में देने को दिवाली की सबसे महत्वपूर्ण परम्परा के रूप में माना जाता है। लोग अपने रिश्तेदारों, मित्रो, पड़ोसियों और शुभ चिंतको के घर मिठाईया और उपहार के साथ मिलने जाते है और अक्सर रिटर्न गिफ्ट के साथ वापिस आते है। दिवाली और मिठाई को अलग नहीं किया जा सकता है क्योकि दिवाली का उत्सव बिना विभिन्न प्रकार के मिठाइयों के डब्बे के अधूरा है। हर आयु वर्ग के लोगो को मिठाईया पसंद होती है और हर कोई इस अवसर का लाभ उठाना पसंद करता है और स्वादिष्ट मिठाइयों के साथ अपनी स्वाद ग्रंथि को स्वाद का लाभ देना पसंद करता है। कुछ परिवार घर में बनी मिठाईया पसंद करते है तो कुछ परिवार समय बचाने के लिए मिठाईया दुकानों से खरीदते है।

स्वस्थ दिवाली मिठाई व्यंजनों को बनाने की विधि ।

दिवाली से पहले दूध और दूध से बनने वाली उत्पादों की मांग सबसे अधिक होती है :- धोखेबाज इसी अवसर का लाभ उठाकर नकली और अशुद्ध दूध और खराब मिठाई आदि बेचते है। इसके आलावा, हम में से बहुत से लोग दिवाली मनाना चाहते हैं और मिठाइयों का भी आनंद लेना चाहते हैं लेकिन साथ ही कैलोरी, शुगर और कोलेस्ट्रॉल आदि के बारे में भी चिंतित होते हैं। इस समस्या का समाधान करने के लिए, हमने कुछ स्वस्थ दिवाली मिठाइयों की रेसिपीयो का चयन किया है जिन्हे सरलता से घर पर बनाया जा सकता है और आप बिना अस्वस्थ या नकली मिठाई खाने के भय के दिवाली का आनंद उठा सकते है।

गेहूं और अलसी के लड्डू ।

ये लड्डू मधुमेह से ग्रस्त लोगो के लिए एक वरदान है क्योकि ये स्वस्थ मिठाई सुगर-फ्री होती है और साथ ही पटसन के बीज और सूखे मेवे के लाभों से भरपूर होता है।

इसे बनाने के लिए आवश्यक सामग्रियां :

  • ½ कप गेहूं का आटा
  • ½ कप टूटी हुयी गेहू
  • 5 चम्मच घी
  • 3 चम्मच भुने हुए पटसन के बीज
  • ¼ कप कद्दूकश किया हुआ गुड़
  • 3 चम्मच अच्छे से बारीक़ कटा हुआ बादाम और पिस्ता
  • ¼ चम्मच जायफल का चूरा
  • ¼ चम्मच इलायची पाउडर।

बनाने की विधि :

  • सबसे पहले, गेहू के टूटे टुकड़े लीजिये और अच्छे से धो लीजिये
  • उसके बाद इसे 5 – 6 घंटो के लिए भिगोकर रख लीजिये।
  • अब गेहू के आटे को 8 -10 मिनट के लिए सूखा भून लीजिये और एक तरफ रख दीजिये।
  • अब भुने हुए अलसी को दरदरा पीस लीजिये।
  • अब गेहू के टूटे टुकड़ो को छलनी की सहायता से अच्छे से छान लीजिये।
  • उसके बाद, एक मोटे पैन में 3 चम्मच घी लीजिये और गेहू के टूटे टुकड़ो को कम आंच पर भून लीजिये।
  • मिश्रण को तब तक चलाते रहिये जब तक यह हलके भूरे रंग में बदलने न लगे (जिसमे 20 से 25 मिनट का समय लग सकता है) और इसके बाद इसे एक कटोरे में निकल लीजिये।
  • अब बचे हुए दो चम्मच घी और गुड़ को एक पैन में निकल लीजिये और कम आंच पर पकाइये जब तक आपको थोड़ा झाग वाला सिरप वाला मिश्रण न मिल जाए।
  • सावधानीपूर्वक सिरप को एक बड़े कटोरे में भुने हुए गेहू के आटे और अलसी के पाउडर के साथ मिश्रित कीजिये, अब इसमें इलायची पाउडर, जायफल पाउडर, गेहूं का ¾ भाग और कटे हुए मेवे डालिये।
  • सामग्री को लकड़ी के स्पैटुला से अच्छी तरह मिलाएं। अब इस मिश्रण के छोटे निम्बू के आकार के गेंद बनाये, यदि मिश्रण गिला हो तो बचा हुआ आटा मिला लीजिये।
  • अब इसे समान्य तापमान में आधे घंटे के लिए सेट होने के लिए छोड़ दीजिये और इसके बाद इसे एक हवाबंद डब्बे में संग्रहित कीजिये।
  • इन लड्डुओं के प्रति सेवारत में लगभग 155 कैलोरी होती है।

मल्टीग्रैन लड्डू ।

स्वादिष्ट और पौष्टिक मल्टीग्रैन लड्डू बनाने में सरल होते है और इसे बनाने की अधिकांश सामग्री आपके रसोई में सरलता से उपलब्ध है।

बनाने के लिए आवशयक सामग्री :

  • जिसमे 2 कप मल्टीग्रैन आटा (बराबर मात्रा में तिल, गेहूँ, रागी, ज्वार और बाजरा मिला लें)
  • ¼ कप गुड़
  • 2 – 3 इलायची (अच्छे से पीसी हुयी)
  • 1 चम्मच भुना हुआ पटसन के बीज
  • 5 – 6 भुने हुए बादाम और 1 चम्मच देसी घी शामिल है।
  • बनाने की विधि :

  • मल्टीग्रैन आटे को एक मोटे तले वाला पैन में घी के साथ अच्छे से मध्यम आंच पर तब तक भून लीजिये जब तक ये भूरा रंग का न हो जाये।
  • गंदगी को छंटे हुए एक पैन में ¼ कप पानी के साथ गुड़ का मिश्रण बनाइये
  • अब इसमें इलायची पाउडर डालिये और इस मिश्रण को तब तक उबालिये जब तक इसमें सिरप वाला एक घनत्व न आ जाये।
  • आंच को बंद कर दीजिये और आटे और गुड़ के मिश्रण को इस तरह मिलाइये की इसमें कोई गांठ नहीं रहनी चाहिए।
  • मिश्रण के गर्म होने के दौरान ही इसमें भुने हुए बादाम और भुने हुए अलसी के बीज मिलाइये।
  • मिश्रण के गेंद बनाने के लिए आपको अपने हाथो पर अच्छे से घी लगाकर चिकना कर लेना पड़ेगा।
  • अब लड्डू को समान्य तापमान पर आराम करने दे और उसके बाद इन्हे एक हवाबंद डब्बे में रख दीजिये।
  • इस लड्डूओं की प्रति सेवारत में 225 कैलोरिया होती है।

संदेश ।

इस बंगाली मिठाई को छाना और खोया/मावा से बनाया जाता है और इसमें एक आनन्दिये, मलाईदार और उत्तम स्वाद होता है। इस मिठाई में खोया और मावा में विद्यमान प्राकृतिक मिठास के कारन शुगर की मात्रा कम होती है। छाना बनाने के लिए, 2 लीटर दूध के साथ घर पर पनीर बनाने के पारम्परिक तरिके से छाना बनाइये, लेकिन छाना को किसी भारी वस्तु से न दबाये ताकि मोटे कण क्रीमीपन देने के लिए बरकरार बने रहे। आप 1.5 लीटर दूध से खोया भी घर पर ही बना सकते है या आप 400 ग्राम बने बनाये खोये का भी उपयोग कर सकते है।

आवशयक सामग्री :

  • आपको छाना बनाने के लिए 2 लीटर दूध
  • खोया बनाने के लिए 1.5 लीटर दूध
  • ½ कप शोधित आटा
  • खोया बनाने के दौरान डालने के लिए 1 कप चीनी
  • 5 चम्मच चीनी पाउडर
  • छाना बनाने के लिए निम्बू के रस की आवश्यकता होगी।
  • बनाने की विधि :

  • छाना, खोया, और आटा को कम से कम 20 मिनटों के लिए अच्छे से मिलाये या तब तक मिलाये जब तक यह सुसंगत न हो जाये और न टूटे।
  • अच्छे से गूंथने के बाद, मिश्रण को एक नॉन स्टिक पेन पर निकाल लीजिये
  • अब इसमें चीनी पाउडर को मिलाइये और कम आंच पर इसे लगातार चलाते हुए 15 मिनट तक पकाइये।
  • जब मिश्रण पूरी तरह से सुख जाये, स्टोव को बंद कर दीजिये और इसे कुछ मिनटों के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ दीजिये।
  • हल्के गरमावस्था में ही थोड़ा थोड़ा मिश्रण लीजिये और इन्हे सन्देश को आकर देने वाले बर्तनो (जो आपको ऑनलाइन मिल जायेंगे) में फैलाइये।
  • कुछ सेकंड के लिए दबाइये, और उसके बाद सावधानीपूर्वक इन्हे निकालिये, और एक प्लेट में रखिये। बाकि मिश्रण से भी इसी तरह संदेश बनाइये और उसके बाद इन्हे रेफ्रिजेटर में ठंडा होने के लिए रख दीजिये।
  • बताये गए समग्रियो की मात्रा से आप लगभग सन्देश के 30 टुकड़े बना सकते है और यदि आप इन्हे रेफ्रिजेटर में रखते है तो आप इनका उपयोग 15 दिनों तक कर सकते है।

फलधारी बादाम की बर्फी (शुगर फ्री) ।

Source food.ndtv.com

यह सुगर फ्री स्वस्थ मिठाई उन लोगो की पसंदीदा है जो नियमित रूप से उपवास करते है क्योकि तह मिठाई खोया से बनायीं जाती है जो सूखे मेवे के गुणों और ऊर्जा से भरपूर होते है।

फलधारी बादाम की बर्फी बनाने के लिए आवशयक सामग्री :

  • आपको 1 ½ कप तोडा हुआ खोया
  • ½ कप बारीक़ कटे हुए नट्स (बादाम, अखरोट, अंजीर और पिस्ता)
  • 1 कप बारीक़ कटे हुए निर्जलित फल (खुबानी, क्रैनबेरी, सेब, आंवला, आदि)
  • ¼ चम्मच इलायची और एक चुटकी जायफल पाउडर की आवश्यकता होगी।
  • बनाने की विधि :

  • एक मोटे नॉन-स्टिक कढ़ाई में खोया और मेवा मिला लीजिये, अब मध्यम आंच पर बिच बिच में हिलाते और अच्छे से मिलते हुए मिनट तक पका लीजिये।
  • अब इसमें इलायची पाउडर, जायफल पाउडर और बारीक़ कटे हुए सभी निर्जलित फल डालिये और अच्छे से मिला लीजिये।
  • अब एक चिकना किया हुआ एलुमिनियम टिन प्लेट लीजिये और मिश्रण को इसमें डाल दीजिये।
  • अब इसे लगभग 5 घंटो के लिए अलग रख दीजिये, उसके बाद इसे चौकोर टुकड़ो में काट लीजिये और पेश कीजिये।

हॉल वीट टूटी फ्रूटी कूकीज ।

ये हॉल वीट टूटी फ्रूटी कूकीज दिवाली के नास्ते के लिए एक स्वादिष्ट और स्वस्थ मिठाइयों का एक विकल्प है जिसे बनाना सरल है और जिसे बनाने के बाद कई दिनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस स्वादिष्ट मिठाई को बनाने के लिए आवश्यक समग्रियाँ :

  • 1 कप गेहूँ का आटा
  • 4 चम्मच नमकहीन मक्खन
  • ½ कप सूजी
  • ½ कप चीनी
  • 2 बड़े चम्मच दूध
  • 1/3 कप टूटी फ्रूटी और काजू
  • और वेनिला सत्र की कुछ बूंदें।
  • बनाने की विधि :

  • एक मिक्सिंग कटोरे में चीनी, मक्खन, और वैनिला सत्र लीजिये और इसे अच्छे से मिलाइये जब तक मिश्रण हल्का कर फूल न जाये।
  • अब इसमें सूजी, गेहूं का आटा, बारीक़ कटे हुए काजू और टूटी फ्रूटी डालिये और अच्छे से मिलाइये।
  • अब इसमें दूध डालिये और इसे गूथ कर एक हल्की लोई बना लीजिये।
  • अब लोई को रोल करते हुए लम्बा आकर दीजिये और उसके बाद इसे चौकोर आकर दीजिये। चौकोर लोई के टुकड़े को मक्खन पेपर के साथ लपेट दीजिये और 20 मिनट के लिए रेफ्रिजेटर में रख दीजिये।
  • 20 मिनट के बाद चौकोर लोई को रेफ्रिजेटर से निकाल लीजिये और एक तेज धार वाले चाकू से छोटे छोटे टुकड़ो में कटर लीजिये, और इन्हे एक बेकिंग ट्रे में निकाल लीजिये।
  • अब इसे 350 डिग्री फ़ारेनहाइट पर गर्म ओवन में 10 मिनट के लिए बाके कीजिये और जब इसके किनारे हल्के सुनहरे भूरे रंग के होने लगे तो इन्हे निकाल लीजिये।
  • अब सावधानीपूर्वक इन्हे एक ट्रे में निकाल लीजिये, अब इन्हे ठंडा होने दीजिये और उसके बाद इसे एक हवाबंद डब्बे में रख दीजिये।

कोकोनट बर्फी ।

इसके अद्भुत स्वाद के कारन हम सबको नारियल की बर्फी बहुत अधिक पसंद है और इसे एक हल्के नास्ते के रूप में देखा जाता है और इसीलिए यह दिवाली मिठाइयों की सूचि के लिए एक उत्तम संयोजन है।

नारियल की बर्फी बनाने के लिए आवशयक सामग्री :

  • आपको 400 ग्राम नारियल (कद्दूकश किया हुआ)
  • 2 बड़े चम्मच घी
  • 1 ½ कप चीनी
  • 2 बड़े चम्मच बारीक़ कटे हुए काजू
  • ½ चम्मच इलायची पाउडर
  • और 2 कप दूध की आवश्यकता होती है।
  • बनाने की विधि :

  • एक पैन में 1 बड़ी चम्मच घी लीजिए, पैन को मध्यम आंच पर गर्म कीजिये, और काजू के टूटे हुए टुकड़ो को हल्का सुनहरे रंग के होने तक अच्छे से भूनिये और एक प्लेट में निकाल लीजिए।
  • दोबारा, पैन पर थोड़ा सा घी लगाकर चिकना कर लीजिए और, इसमें नारियल और दूध डालिये और अच्छे से मिलते हुए मध्यम आंच पर एक उबाल आने तक उबालिये।
  • अब आंच को कम कर दीजिये और तब तक उबलने दीजिये जब तक दूध वाष्पित न हो जाये, उसके बाद इसमें चीनी डालिये और इसे तब तक पकाइये जब तक इसमें कोई नमी न रहे।
  • अब इसमें घी डालिये और इसे लगातार पकाते रहिये जब तक यह पूरी तरह से सुख न जाएँ और पैन को छोड़ने न लगे।
  • अतिरिक्त मिश्रण की जांच के लिए मिश्रण को एक चम्मच या पकने वाले लकड़ी के हाथे से दबाकर देखिये।
  • यदि कोई नमी बाकि है तो इसे कुछ और समय के लिए पकाइये। अब मिश्रण को घी से चिकने किये हुए एक पैन में स्थानांतरित कीजिये और हाथे से दबाइये और नट्स छिड़किए।
  • अब पैन को समान्य तापमान में 3 – 4 घंटो के लिए छोड़ दीजिये ताकि बर्फी अच्छे से सेट हो जाये।
  • 4 घंटो के बाद बर्फी को टुकड़ो में काटिये और फिर से 8 – 10 घंटो के लिए छोड़ दीजिये।
  • अब आप बर्फी को पेश कर सकते है या एक हवाबंद डब्बे में रख सकते है।

फ्रूट कस्टर्ड ।

आसानी से बनने वाले मिठाइओ में से एक जोकि दूध और फलों की अच्छाइयों से भरा हुआ है, फ्रूट कस्टर्ड को केवल 20 - 25 मिनटों में बनाया जा सकता है ।

इसके लिए आवश्यक सामग्रियां :

  • 700 मिलीलीटर फुल क्रीम दूध
  • 4 बड़े चम्मच चीनी
  • 2 कप फल छोटे-छोटे टुकड़ों में कटे हुए (केला, सेब और आम आदि)
  • 3 बड़े चम्मच कस्टर्ड पाउडर
  • एक चुटकी इलायची पाउडर और कुछ बूंदे गुलाब जल।
  • बनाने की विधि :

  • दूध को मध्यम-उच्च आंच पर गर्म कीजिये।
  • जब यह थोड़ा गर्म हो जाये, 3 बड़े चम्मच दूध को एक कटोरे में निकाल लीजिए और कस्टर्ड पाउडर मिला दीजिए।
  • इसे अच्छे से मिश्रित कीजिये ताकि कोई गांठ न रहे और इसे एक तरफ रख दीजिए।
  • बिच बिच में हिलाते हुए दूध को पैन पर लगातार गर्म करते रहिये और इसमें एक अच्छा उबाल लेकर आइये।
  • आंच को कम कीजिये, चीनी मिलाइये और अच्छे से घोल लीजिए।
  • अब धीरे से कस्टर्ड पाउडर को दूध में डालिये, थोड़ा थोड़ा करके, हिलाइये और फिर से अच्छे से मिश्रित कर लिए।
  • अब इसे 2 - 3 मिनट के लिए पकाइये और पैन को आंच से हटा लीजिए जब कस्टर्ड गाढ़ा हो जाएँ।
  • मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने दीजिए और फिर गुलाब जल और इलायची पाउडर डालिये।
  • कस्टर्ड मिश्रण को ढक दीजिए और रेफ्रिजेटर में ठंडा होने के लिए रख दीजिए और साथ ही फलों को भी ठंडा होने के लिए रख दीजिए।
  • आधे घंटे के बाद, फलों और मिश्रण को रेफ्रिजेटर से निकाल लीजिए, और एक बड़े कटोरे में फलों और मिश्रण को मिलिए और फिर से इस मिश्रण को रेफ्रिजेटर में 1 - 2 घंटे के लिए रख दीजिए ताकि स्वाद अच्छे से विकसित हो सके।
  • ठंडा परोसने से पहले अनार के दानों से गार्निश करें।

ऑनलाइन स्वस्थ दिवाली की मिठाईया ।

Source wartalaap.com

हमने स्वस्थ दिवाली की मिठाइयों को घर पर बनाना सीखा :- लेकिन यदि आप दिवाली के दौरान पकने के मूड में नहीं है या यदि आप स्वयं के लिए मिठाइयों को बनाने के लिए बहुत अधिक व्यस्त है तो आप इन्हे ऑनलाइन आर्डर कर सकते है। कुछ विश्वसनीय ब्रांडों से अच्छी गुणवत्ता और स्वादिष्ट मिठाइयाँ यहाँ उपलब्ध हैं और ये आपको आपके घर पर तजा मिठाईया उपलब्ध करा देते है।

चलिए कुछ स्वस्थ दिवाली की मिठाइयों की जांच करते है जो ऑनलाइन ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर उपलब्ध है :-

अंजीर शुगर फ्री बर्फी ।

Source www.igp.com

अंजीर एक प्राकृतिक मीठा फल है और इस शुगर-फ्री बर्फी का चयन करने से आपको अफ़सोस नहीं होगा :- फिर चाहे आप इस मिठाई के कुछ टुकड़े ज्यादा ही क्यों न खा ले। अंजीर सुगरफ्री बर्फी सूखे मेवे की अच्छाइयों से भरपूर है और यह 30 दिनों तक खराब नहीं होता है। आप इस मिठाई के 250 ग्राम के आईजीपी.कॉम से 620 रुपए में खरीद सकते है।

घसिटाराम हेल्थी एनर्जी बाइट्स ।

Source www.amazon.in

घसिटाराम, मिठाइयों और ड्राई फ्रूट्स के क्षेत्र में 100 वर्षो से अधिक पुराना जाना माना एक ब्रांड है और ये अपने ताजा तैयार प्रीमियम उत्पादों के लिए सुप्रसिद्ध है :- हेल्थी एनर्जी बाइट्स को प्राकृतिक उत्पादों जैसे अलसी, तिल, मूंगफली, और सूखे मेवे आदि से बनाया जाता है और इसमें कोई कृत्रिम संरक्षक नहीं होते है। प्रत्येक एनर्जी बाइट्स इसके पैकेट के अंदर अलग अलग पैक किये हुए होते है और डब्बे के अंदर कुल 12 टुकड़े होते है। इस एनर्जी बाइट व्हाइट बॉक्स के 180 ग्राम का एक पैक अमेज़न.इन पर 406 रुपये में उपलब्ध है।

From our editorial team

अधिकतर मिठाइयों की शुद्धता दूध पर निर्भर करती है,इसलिए दूध का शुद्ध होना महत्वपूर्ण है।

दिवाली से पहले दूध और दूध से बनने वाली उत्पादों की मांग सबसे अधिक होती है। धोखेबाज इसी अवसर का लाभ उठाकर नकली और अशुद्ध दूध और खराब मिठाई आदि बेचते है। क्यूंकि हम में से बहुत से लोग मिठाइयों का भी आनंद लेना चाहते हैं,लेकिन उनकी शुद्धता का कोई पैमाना नहीं होता है।ऊपर दिए गए लेख के अनुसार आप बिना अस्वस्थ या नकली मिठाई होने के भय के बगैर -दिवाली पर मिठाइयों का आनंद उठा सकते है।