आपकी त्वचा क्यों इतना तेल उतपन्न कर रही है ? अपनी तैलीय त्वचा को ठीक करने के लिए भारत में इन शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ साबुनों का उपयोग करें। (2020)

आपकी त्वचा क्यों इतना तेल उतपन्न कर रही है ? अपनी तैलीय त्वचा को ठीक करने के लिए भारत में इन शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ साबुनों का उपयोग करें। (2020)

Source cashkaro.com

भारत में उस प्रकार का मौसम होता है जिससे अधिकांश लोग तैलीय त्वचा की समस्याओं से पीड़ित होते हैं। यदि आप उनमें से एक हैं, तो आपको इन 10 सर्वश्रेष्ठ भारतीय साबुनों का उपयोग करना चाहिए जो आपकी तैलीय त्वचा की समस्याओं को बहुत आसानी से और जल्दी से ठीक कर देंगे। इसके साथ ही हमने आपको उन कारणों के बारे में भी बताया है जिनकी वजह से आपकी त्वचा बहुत अधिक तेल उत्पन्न करती है। अधिक जानने के लिए अंत तक पढ़ें।

मेरी त्वचा क्यों इतना तेल उतपन्न कर रही है?

आपने, विशेषकर अपने चेहरे के टी क्षेत्र में, अपनी त्वचा पर मोम या तैलीय पदार्थ के जमाव का अनुभव किया होगा। यह तैलिये पदार्थ सीबम है - वसामय ग्रंथियों का एक स्राव जो हमारी त्वचा पर मौजूद होते हैं। सीबम स्वस्थ त्वचा के लिए महत्वूर्ण होता है क्योकि यह त्वचा को नमिकृत करता है और इसे सूखा होने से भी रोकथाम करता है, लेकिन सीबम के अतिरिक्त उत्पादन विपरीत कार्य करने लगता है क्योकि अधिक उत्पादन होने से त्वचा तैलिये, रोम छिद्रो का भरना और पिम्पले और मुहासों की समस्या हो सकती है। अतिरिक्त सीबम का उत्पादन अनेको कारणों से हो सकता है। इनमे से मुख्य कुछ इस प्रकार है :

आनुवंशिकी

अधिकांश, आपको तैलीय त्वचा विरासत में मिलती है। इसका अर्थ यह है कि यदि आपके माता पिता या किसी करीबी रिश्तेदार कि त्वचा तैलिये है और संभावना है कि आपकी त्वचा भी तैलिये होगी क्योकि तैलीय त्वचा एक लक्षण है जो जीन के माध्यम से पारित हो सकते है। बड़ी वसामय ग्रंथियां अतिरिक्त तेल का उत्पादन कर सकती हैं जिससे तैलीय त्वचा हो सकती है। यह पाया गया है कि बड़ी वसामय ग्रंथियां अनुवांशिक लक्षण है और यह परिवार में नीचे पारित हो सकते है।

वातावरण

हमारे वातावरण में दो दो ऐसी चीजे है जिनके कारन त्वचा तैलिये हो जाती है। पहला है मौसम और दूसरा है प्रदूषण। सीबम का कार्य आपकी त्वचा को नमीकृत करना है। ठंडी और शुष्क जलवायु वाले क्षेत्रों में त्वचा रूखी हो जाती है इसलिए इस रूखी त्वचा से निपटने के लिए वसामय ग्रंथियां अधिक सीबम का स्राव करती है तो त्वचा तैलिये पड़ जाती है। यह भी देखा गया है कि गर्म वातावरण और नमी भी सीबम के उत्पादन को बढ़ा देती है। प्रदूषण भी सीबम के स्राव को बढ़ा देता है।

त्वचा की देखभाल की गलत दिनचर्या

हम में से कुछ बिना उचित अध्यन और ज्ञान के त्वचा की देखभाल की गलत दिनचर्या अपना लेते है। त्वचा के देखभाल की दिनचर्या कार्य करेगा या नहीं, यह आपकी त्वचा के प्रकार, आपकी त्वचा की समस्याओं के प्रकार और आपके भूगोलिक क्षेत्र जहा आप रहते है, के आधार पर निर्भर करता है। त्वचा की देखभाल की कोई वर्गीकृत दिनचर्या नहीं है और इसीलिए किसी भी दिनचर्या को अपनाने से पहले आप एक त्वचा विशेषज्ञ से चर्चा अवश्य कर ले। दूसरी ओर, तैलिये त्वचा किसी भी प्रकार के त्वचा की देखभाल की दिनचर्या न अपनाने के कारण भी हो सकती है। जैसे कि:

  • आप अपने चेहरे को अधिक साफ नहीं करते है, इसीलिए अतिरिक्त तेल आपके चेहरे परे ही जमा रह गया है
  • आप अपने चेहरे को उपयुक्त नमी प्रदान नहीं करते है, जिसके कारण आपकी त्वचा सुखी हो जाती है और बदले में त्वचा को ओर अधिक सीबम की उत्पादन करनी पड़ती है।
  • कई बार, हम त्वचा की देखभाल की प्रक्रिया को अधिक दोहरा देते है।
  • हम अपने चेहरे को साफ़ करते हैं, जिसके कारण त्वचा इतनी शुष्क हो जाती है कि तेलीय त्वचा की ओर अग्रसर होने के लिए वसामय ग्रंथियाँ अतिरिक्त सीबम का स्राव करती हैं।
  • बहुत अधिक नमी एक तैलीय त्वचा के निर्माण को उत्तेजित कर सकती है।

मूल आधार यह है कि आप चाहे कोई भी त्वचा देखभाल की दिनचर्या अपनाये, वह त्वचा विशेषज्ञ द्वारा स्वीकृत होनी चाहिए और अवश्य ही इष्टतम आवृत्ति के साथ पालन की जनि चाहिए। बहुत कम या बहुत अधिक केवल मात्र आपकी त्वचा की समस्या को बढ़ा सकता है ।

हॉर्मोन

तैलिये त्वचा और हॉर्मोन एक ही सिक्के के पहलू है। हॉर्मोन जो तैलिये त्वचा का सबसे अधिक जिम्मेदार होता है वह एण्ड्रोजन है। अध्यनो से पाया गया है कि इस हॉर्मोन के स्तर में उतार चढाव के कारण सीबम का अत्याधिक उत्पादन होता है। एण्ड्रोजन के स्तर में उतार-चढ़ाव यौवन के दौरान, गर्भावस्था के दौरान, मासिक धर्म से ठीक पहले और रजोनिवृत्ति के दौरान होता है। बीमारी के दौरान भी हार्मोन का अतिरिक्त उत्सर्जन हो सकता हैं और इससे सीबम का उत्पादन भी बढ़ सकता है।

अल्प आहार

एक अल्प आहार अधिकतर बीमारियों का कारण है और इसमें कोई हैरानी नहीं है कि एक उचित प्रकार के भोजन का सेवन न करना तैलिये त्वचा का कारण हो सकता है। चीनी युक्त खाद्य, परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन और डेयरी उत्पाद शायद स्वादिष्ट हो सकते हैं, लेकिन ये मुख्य कारण उन सभी चीजों के जो आपके शरीर के साथ सही नहीं है। नियमित रूप से इन खाद्यो का सेवन करना, सीबम के अतिरिक्त उत्पादन का कारन बन सकता है और आपकी त्वचा को देखने में खराब और तैलिये बना सकता है। त्वचा के लिए सबसे अच्छे दो मित्र फल और जल है। त्वचा सम्बन्धित लगभग सभी समस्याओ को प्रतिदिन एक फल और उपयुक्त मात्रा में पानी पीकर समाधान किया जा सकता है। इसीलिए, अपने आहार को बदले, स्वास्थ्यकर भोजन का कम और स्वस्थ भोजन का अधिक सेवन करें, और आप कुछ ही समय में आप तैलीय त्वचा से मुक्ति पा जायेंगे।

भारत में तैलिये त्वचा के लिए 10 सबसे अच्छे साबुन

वे जो तैलिये त्वचा से ग्रस्त है, वे जानते है कि यह कितना उपद्रव है। तैलिये त्वचा के विरूद्ध सभी त्वचा की देखभाल की दिनचर्या में, एक सत्र है जो सभी में मौजूद है, और वह है सफाई। क्योकि त्वचा पर अतिरिक्त तेल का होना ही समस्या है, इसलिए इसका निपटान करने का पहला चरण त्वचा पर इस अतिरिक्त तेल के जमाव को दूर करना है। यह करने का सबसे अच्छा तरीका औषधीय चेहरे और शरीर के साबुन का इस्तेमाल करना है जिनमे विशेषकर तैलिये त्वचा का उपचार करने के लिए सामग्रियां सम्मलित है। इस प्रकार के अनेको साबुन हमारे लिए उपलब्ध है। अपने लिए सबसे अच्छे साबुन का चयन करने के लिए बी.पी.गाइड के निर्देशों का पालन करे :

आयुष प्यूरीफयिंग टर्मेरिक सोप

Source www.amazon.in

आयुष का यह हल्दी साबुन तैलिये त्वचा पर इस्तेमाल करने के लिए सबसे अच्छे साबुनो में से एक है। यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध एक तथ्य है कि हल्दी में एंटीसेप्टिक और जीवाणुरोधी गुण होते है जो त्वचा को स्वस्थ होने में सहायता करते है। यह एक अनोखी जड़ी बूटी है जो त्वचा को डीटॉक्स करता है और त्वचा से दाग धब्बो को दूर करता है और त्वचा को स्वस्थ बनाता है। हल्दी के अलावा, इस साबुन में नालपरामड़ी तिलम भी है जो अमला, पीपल और वेटीवर से बनाया गया एक जैविक तेल है। इस साबुन का नियमित रूप से इस्तेमाल करने का परिणाम कम तैलीय, स्पष्ट और चमकदार त्वचा है। यह अमेज़न पर उपलब्ध है, आयुष प्यूरीफयिंग टर्मेरिक सोप के 5 बार 120 रुपए में आते है। प्रत्येक बार का वजन 100 ग्राम है।

हिमालय कुकुम्बर एंड कोकोनट सोप

हिमालय का कुकुम्बर एंड कोकोनट सोप तैलीय त्वचा से ग्रस्त किसी भी व्यक्ति के बाथरूम सामग्रियों में अवश्य वाली सामग्री है। जैसा कि नाम से पता चलता है, इस साबुन को बनाने के सूत्र के मुख्य सामग्रियां नारियल और ककड़ी के अर्क हैं। यह साबुन प्रभावशाली रूप से त्वचा से अतिरिक्त तेल को दूर कर देता है और नारियल के अर्क त्वचा को नमिकृत करते होते त्वचा को सूखा पड़ने से रोकते है। ककड़ी का अर्क एक उत्कृष्ट त्वचा कंडीशनिंग एजेंट के रूप में कार्य करता है जो त्वचा को शांत करते हुए फिर से इसे जीवंत महसूस कराता है। अंतिम परिणाम शांत और कोमल त्वचा होती है जो ताजा अनुभव कराता है। इस साबुन के एक बार का वजन 125 ग्राम है और यह 45 रुपए की कीमत में हिमालय वैलनेस पर उपलब्ध है।

बायोटीक आलमंड आयल सोप

Source www.amazon.in

यह बायोटिक ब्रांड का एक शरीर का साबुन है। इस साबुन के निर्माण सूत्र में बादाम और नारियल का तेल शामिल है। यह साबुन एक अनोखे क्लीन्ज़र के रूप में कार्य करता है और यह त्वचा को दिखने में ताजा और युवा बनाते हुए, आपकी त्वचा से अतिरिक्त तेल को हटा देता है। यह सूत्र चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित और हाइपो-एलर्जेनिक है। इस साबुन का नियमित इस्तेमाल त्वचा को खुजली, दाद और जिल्द की सूजन जैसी बीमारियों से दूर रखता है। इस साबुन के एक बार का वजन 150 ग्राम है और यह अमेज़न पर 90 रुपए की कीमत पर उपलब्ध है।

नोमार्क्स एंटीमार्क्स सोप

Source www.nykaa.com

पेशेवर लोगो के पास यह साबुन अवश्य ही होना चाहिए। कार्यशील पुरुष और महिलाओ को सप्ताह में कम से कम 5 बार स्वयं को गंदगी और प्रदूषणो से होते हुए बाहर जाना पड़ता है। एक व्यस्त जीवन शैली के साथ यह हमारी त्वचा पर विरूद्ध कार्य करता है। एक व्यस्त जीवनशैली और प्रदूषण त्वचा में तनाव उत्पन्न कर सकते है जो बदले में त्वचा को तैलिये बना देते है। यह नोमार्क्स एंटीमार्क्स सोप तैलिये त्वचा पर इस्तेमाल करने के लिए आदर्श है। यह जड़ीबूटी आधारित सूत्र अतिरिक्त तेल को हटते हुए सहजता से त्वचा को साफ करता है और स्पष्ट, दाग धब्बो रहित और दमकती हुई त्वचा प्रदान करते हुए त्वचा को नमिकृत बनाता है। इस सूत्र में मौजूद प्राकृतिक एक्सफोलिएंट निशान और रंजकता को हल्का बनाते है। इस साबुन के एक बार का वजन 125 ग्राम है और यह 40 नयका पर 40 रुपए की कीमत पर उपलब्ध है।

पीअर्स आयल क्लियर एंड ग्लो सोप

Source www.nykaa.com

पीअर्स आयल क्लियर एंड ग्लो सोप का सूत्र शुद्ध ग्लिसरीन और नींबू के फूलों के अर्क से समृद्ध है। निम्बू के फूलो का अर्क त्वचा से अतिरिक्त तेल को दूर करता है जबकि ग्लिसरीन एक सहज क्लीन्ज़र के रूप में कार्य करता है और त्वचा के प्राकृतिक नमी को सुरक्षित रखता है। एक खूबसूरत और युवा दिखने वाली त्वचा पाने के लिए इस साबुन को प्रतिदिन इस्तेमाल करे।.इस साबुन के एक बार का वजन 75 ग्राम है और यह 41 रुपए की कीमत पर नयका पर उपलब्ध है।

सेबामेड क्लींजिंग बार

सेबामेड क्लींजिंग बार अवश्य ही आपके टॉयलेटरीज में शामिल होना चाहिए, यदि आप अपनी तैलिये त्वचा के विरूद्ध प्रबल समाधान चाहते है। यह साबुन न केवल साफ करता है, बल्कि यह आपकी त्वचा को स्वस्थ और एक युवा लुक प्रदान करने के लिए नमिकृत करता है। इस सूत्र में विटामिन और एमिनो एसिड शामिल है और इसका पीएच मान 5.5 है। यह सामान्य और तैलिये त्वचा दोनों पर उत्तम कार्य करता है। यह त्वचा को सूखा बनाये बिना और बिना आवश्यक तेलों को हटाए सहजता से अतिरिक्त तेल को साफ करता है। इस साबुन के एक बार का वजन 100 ग्राम है और यह 199 रुपए की कीमत पर माईवेलनेसकार्ट उपलब्ध है।

संतूर संदल एंड टर्मेरिक सोप

Source www.nykaa.com

चंदन और हल्दी सदियों से भारतीय सौंदर्य दिनचर्या का एक भाग रहे है। संतूर संदल एंड टर्मेरिक सोप की ये दो सामग्रियां स्पष्ट, नरम और सहज त्वचा प्रदान करती है। साबुन का इस्तेमाल लंबे समय तक चलने वाला और एक स्फूर्तिदायक खुशबू प्रदान करता है। चन्दन के अर्क सुखी त्वचा, उम्र के लक्षण का उपचार करते है, टैनिंग को कम करते है और त्वचा को डीटॉक्स करते है। हल्दी के अर्क त्वचा को कोमल और नरम बनाता है। यह साबुन त्वचा को स्वस्थ और दमकदार बनाने के के लिए तेल, गंदगी और जमी हुई गंदगी को भी दूर करता है। इस पैक में 125 ग्राम के प्रत्येक बार का 8 साबुन आते है और यह 300 रुपए की कीमत पर नयका पर उपलब्ध है।

बॉम्बे शेविंग कंपनी आयल कण्ट्रोल बाथ सोप

बॉम्बे शेविंग कंपनी का आयल कण्ट्रोल बाथ सोप तैलिये त्वचा के उपचार के लिए सबसे अच्छे उत्पादों में से एक है।इस साबुन के सूत्र में दलिया और चाय के पेड़ के तेल के अर्क शामिल है। दलिया एक प्राकृतिक एक्सफोलिएटर है, और इसीलिए इस साबुन का इस्तेमाल त्वचा से अतिरिक्त तेल को दूर करता है और मुहासे होने से रोकता है। चाय के पेड़ का सार और दलिया का अर्क त्वचा को चिकना, मुलायम और चमकदार बनाने के लिए कीटाणुरहित, शीतल और नमिकृत करता है। यह साबुन हस्तनिर्मित है और इसका वजन 100 ग्राम है। यह 195 रुपए की कीमत पर बॉम्बे शेविंग कंपनी पर उपलब्ध है।

फॉरएवर एवोकाडो फेस एंड बॉडी सोप

Source www.amazon.in

फॉरएवर का एवोकाडो फेस एंड बॉडी सोप तैलिये त्वचा के विरूद्ध एक प्रभावशाली साबुन है। इस साबुन के सूत्र में एवोकाडो शामिल है जिसमे बहुत अधिक मात्रा में विटामिन ए, बी, डी और ई शामिल है। इसके अलावा, इस साबुन में मुक्त कणो से लड़ने के लिए एंटीऑक्सीडेंट गुण है। इस उत्पाद में लगाने के बाद एक खट्टा और ताजा सुगंध है और जिवंत अहसास उत्पन्न होता है। संवेदनशील और तैलिये त्वचा के लिए उत्तम, साबुन का यह बार 468 रुपए में अमेज़न पर उपलब्ध है।

वादी हर्बल्स नीम एंड तुलसी सोप

Source www.nykaa.com

वादी हर्बल्स के इस साबुन में नीम, तुलसी, एलो वेरा, विटामिन ई और चाय के पेड़ का तेल जैसी सामग्रियां शामिल है। नीम एक एंटीसेप्टिक एजेंट है जो घाव, जलन, चोट और मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया का उपचार करता है। तुलसी एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट के साथ-साथ एक अच्छा एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल एजेंट है जो बढ़ते उम्र के लक्षनो को कम करता है। एलो वेरा त्वचा को पोषण और नमीयुक्त करता है। विटामिन ई एक सनस्क्रीन के रूप एमए कार्य करता है, और चाय के पेड़ का तेल तैलिये त्वचा के विरूद्ध बहुत प्रभावशाली होता है और पिम्पल और मुहासो के उपचार में सहायता करता है। जैविक खेतों से एकत्रीत, ये सभी अच्छी गुणवत्ता वाली सामग्रियां आपकी त्वचा के लिए लाभदायी होंगे, और आपकी त्वचा को दाग-धब्बे मुक्त और चमकदार बनाते हुए त्वचा को ताजा अनुभव प्रदान करेंगे। साबुन के इस हस्तनिर्मित बार का वजन 75 ग्राम है और यह 48 रुपए की कीमत पर नयका पर उपलब्ध है।

तैलिये त्वचा की रोकथाम के लिए त्वचा देखभाल की दिनचर्या

Source www.foreo.com

सफाई समाधान का केवल एक भाग है। अपनी त्वचा को केवल एक उपयुक्त साबुन से साफ़ करने से तैलीय त्वचा का उपचार नहीं होगा। आपको त्वचा देखभाल की दिनचर्या का नियमित रूप से पालन करने की आवश्यकता है। जबकि एक आधुनिक त्वचा देखभाल की दिनचर्या को केवल एक त्वचा विशेषज्ञ के साथ चर्चा के बाद ही अपनाना चाहिए, आप सदैव सामान्य त्वचा देखभाल दिनचर्या को अपना सकते हैं जो आपकी त्वचा को साफ और स्पष्ट करने पर आधारित होती है।

  • सबसे पहले नियमित रूप से एक फेस वाश से चेहरे को धोये। तैलिये त्वचा समान्य त्वचा के मुकाबले अधिक धूल और गंदगी को स्थान देती है और इसीलिए दिन में दो बार फेस वाश का इस्तेमाल करना महत्वपूर्ण है।
  • चेहरे को धो लेने के बाद, इस पर मॉइस्चराईज़र लगाइये ताकि त्वचा सुखी न पड़ जाये। सुखी त्वचा वसामय ग्रंथियो को अतिरिक्त मात्रा में सीबम के उत्पादन के लिए उत्तेजित करती है और आपकी त्वचा को अतिरिक्त तैलिये बना देती है।
  • सप्ताह में कम से कम एक बार पोर स्ट्राइप्स का इस्तमाल करें। पोर स्ट्राइप्स उन छिद्रो को खोल देते है जो दुषको से भर जाते है। छिद्रो के खुल जाने से मुहासो जैसे समस्याओ का संधान हो जाता है जो केवल तैलीय त्वचा की समस्या को बढ़ावा देते है।
  • अंतिम लेकिन शेष नहीं, बहार जाने से पहले सदैव सनस्क्रीन का इस्तेमाल करे। कम से कम 30 एसपीएफ वाले एक सनस्क्रीन का इस्तेमाल करे और जिसमे आदर्श रूप से जिंक ऑक्साइड या टाइटेनियम ऑक्साइड शामिल हो। चीजों को आपके लिए सरल बनाने के लिए, सनस्क्रीन को अपने प्रतिदिन के मॉइस्चराईज़र में मिला ले ताकि आप कभी भी सनस्क्रीन लगाना न भूले ।

कुल मिलकर बात यह है कि तैलिये त्वचा समस्या उतपन्न करते है और सफाई की एक प्रतिदिन की दिनचर्या महत्वपूर्ण है। आपको समान्य सफाई एक दिन के लिए भी नहीं छोड़नी चाहिए। उन लोगों के लिए, जिन्हे तीव्र तैलीय त्वचा की समस्या है, वे एक उन्नत औषधीय उपचार के लिए एक त्वचा विशेषज्ञ से मिलें।

From our editorial team

यह भी महत्वपूर्ण है

हमें उम्मीद है कि आपने पूरा लेख पढ़ा होगा और इसे पसंद किया होगा। अपने चेहरे पर प्राकृतिक चीजों का भी इस्तेमाल करें और त्वचा की कई समस्याओं से बचने के लिए अपने चेहरे पर ज्यादा रसायनों का इस्तेमाल न करें। इसके साथ ही चेहरे की टैनिंग, ब्लैक और व्हाइट हेड्स और कई अन्य अवांछित चीजों को हटाने के लिए स्क्रब और प्राकृतिक फेस पैक का उपयोग करें।