दिल्ली से खरीदने लायक ऐसी 10 चीजें जो आपको जिंदगी में एक ना एक बार जरूर खरीदनी चाहिए ।(2020)

दिल्ली से खरीदने लायक ऐसी 10 चीजें जो आपको जिंदगी में एक ना एक बार जरूर खरीदनी चाहिए ।(2020)

अगर आप भी दिल्ली जाने का सोच रहे हैं या दिल्ली में है तो आपको यह चीजें 10 जरूर खरीदनी चाहिए । हमने इन चीजों की पूरी सूची तैयार की है जिसमें हमने आपको इनके बारे में बताया है और यह कहां से खरीदनी है वह भी बताया है । अधिक जानने के लिए अनुच्छेद पूरा पढ़ें ।

कुछ यादगार चीजों के खरीदने का महत्त्व

हमे इस बात का यकींन है कि महिलाये ये जरूर मानेंगी की खरीददारी से अंदुरनी ख़ुशी मिलती है। हम अपने जीवन में बहुत सी जगह घूमने जाते है और हम एक यादगार चीज खरीदने का काम हम जरूर करते है, न केवल अपने लिए बल्कि परिवार के हर सदस्य के लिए। यादगार चीजे खरीद लेना एक फ्रैंसिसि सभ्यता है जिसका लक्ष्य अपनी यादो को जोड़े रखना है। ये कुछ ऐसा हो सकता है जिसका संग्रह करना आपको अच्छा लगता है या कुछ ऐसा जिसे आप अपने प्रिये लोगो को उपहार देना चाहते हो। एक स्मारक चीज का कोई निर्धारित मूल्य नहीं होता है बल्कि उसके पीछे का कारन या आपके विचार होते है।

जब भी आप स्मिर्ति चिन्ह के बारे में सुनते है तोह आपको उन छोटे छोटे उपहारों कि याद आती है जो आपको आपके चाहने वालो ने दी होती है जब वे कही से छुट्टिया मनाकर घर लौटते है। ये चीजे आपको उन जगहों और अनुभवों का याद दिलाती है जहा आप गए थे। ये आपको उन विचारो का भी स्मरण कराती है जिन्हे आपने अन्य शहर या देशो में देखा था।

स्मारक चीज खरीदने से आपको न केवल ख़ुशी देती है बल्कि उस देश के पर्यटन उद्योग को भी मुनाफा होता है जिस देश में आप घूमने गए है। ये वहां के स्थनीये निवासियों और विज्ञापन देने वालो को भी प्रोत्साहित करती है अपनी वास्तु कला का प्रदर्शन करने के लिए। स्मारक चीज खरीदना, उस देश की सहायता करने का अच्छा जरिया है जहा आप घूमने जाते है और साथ ही एक ऐसी याद बन जाती है जिसे आप पीछे छोड़ आये है।

दिल्ली से खरीदने योग्य चीजे

अगर आप दिल्ली की यात्रा की यात्रा कर रहे है तो आपको ये पता होना चाहिए कि दिल्ली में भारत के सबसे अच्छे बाजारों में से कई बाजार है जहा आप हर वो चीज खरीद सकते है जो आप चाहते है। आपको यहाँ स्थानीय सड़क के किनारे के बाजारों में बहुत अच्छी कीमत में अच्छे सौदे मिल सकते हैं। ये एक सूचि है जो आप खरीद सकते है यदि आप अभी दिल्ली में है।

भारतीय अचार

अचार एक ऐसी चीज है जो आपको भारत के हर घर में मिल जाएगा। आपको घर में बने अचार या कंपनी के बांये अचार दोनों मिल जायेंगे। भारत में अचार किसी भी चीजों से सूर्य के धुप में रखकर बनाया जा सकता है और अगर आपको खाने के साथ अचार बहुत पसंद है तो आपको एक या दो बोतल अचार एक बार दिल्ली से खरीदना चाहिए। अपने परिवार की ओर से अपने मित्र को या अपने साथ काम करने वालो को अचार देना एक अच्छा उपहार हो सकता है। सबको अचार बहुत पसंद आता है। यह कई प्रकार के मसालो और स्वादों का मिश्रण है जिसे एक बोतल में इकठ्ठा किया गया है जो आपके जीभ में लगते ही आपके मुँह में पानी आ जाता है। आपको अच्छे स्वादिस्ट अचार दिल्ली के हर जनरल स्टोर में मिल जायेगा। अगर आपको अपने मित्र के जीवन में स्वाद लाना है तो आपको दिल्ली से खरीदा हुआ एक अचार का बोतल अपने मित्र को उपहार करना चाहिए। आपको अपने मित्र के लिए खट्टा, मीठा, और तीखा अचार मिल जाएगा।

अगर, आप मित्र के लिए एक स्मारक चीज ढूंढ़ रहे है जिसे अलग अलग खाना पसंद है तो अचार का बोतल उसे खुश कर देगा। इसे ले आना या ले जाना बहुत आसान है क्युकी यह हवाबंद प्लास्टिक की बोतल या कच की बोतल में अच्छे से पैक होकर आता है। ये सस्ते होते है और आप अपनी इच्छानुसार इसकी मात्रा और स्वाद चुन सकते है। आपको कुछ सबसे अच्छे अचार सेठीअचार दुकान पर मिल जायेगा जो खरी बाओली, चांदनी चौक में स्थित है या फिर पचरंगा अचार दुकान जो थान सिंह नगर में स्थित है।

इंडियन सिल्क गारमेंट्स

भारत में रेशम बहुत मशहूर है, ये भारत में बनने वाली महँगी चीजों में से एक है और आपको रेशम से बने साड़ी, कुर्तियां, शॉल भारत में हर जगह मिल जाएँगी। रेशम एक महँगी वास्तु है क्युकी कच्चे रेशम से कोई वस्तु बनाने में बहुत सारा समय, ऊर्जा, मेहनत और मजदूर लगते है। आपको रेशम बहुत सारी विविधता और रंगो में मिल जायेगा। कुछ लोग रेशम से बने बनाये कपडे खरीदते है और कुछ रेशम खरीदकर उनसे कुर्ता या ब्लाउज बनाते है। अगर आपको कपडे खरीदना पसंद है तो आपको रेशम के कपडे खरीदने चाहिए। आपको रेशम के कपडे या वस्तुए दिल्ली की लगभग हर कपडे की दुकान पर मिल जायगी।

रेशम आपकी माता के लिए एक अच्छा उपहार है ओर आपके पिता के लिए भी, आप अपने पिता के लिए एक अच्छा सा रेशमी कुरता खरीद सकते है जिसे आपके पिता त्योहार या खास अवसरों पर पहन सकते है। जो लोग जीवन में बारीक चीजों को पसंद करते हैं, उन्हें रेशम का कपड़ा पहनना पसंद होगा। रेशम भरी नहीं होता है और इसीलिए इसे पैक करना और कहि ले जाना बहुत आसान है। अगर आप दिल्ली से रेशम के कपडे खरीदने की सोच रहे है तो आपको एक बार गोविंदपुरी, दिल्ली के बिहू बाजार जरूर जाना चाहिए।

भारतीय चाय

हम सब की जिंदगी में कोई न कोई एक ऐसा जरूर होता है जिसे चाय बहुत ज्यादा पसंद आती है और उसके लिए एक भारतीय चायपत्ती का बैग सबसे अच्छा तोहफा होगा। भारतीयों को चाय पीना बहुत ज्यादा पसंद है, यह तो भारतीय परम्परा है कि दिन के समय की परवाह किये बिना किसी व्यक्ति को चाय की पेशकश करना जो आपसे मिलने आया है। पुरे दिन के काम के बाद एक कप चाय आपको तुरंत ऊर्जा और ताजगी प्रदान करता है और आपको पुनः: ऊर्जा देता है ताकि आप न सुस्ता कर अपना वक़्त अपने मित्रो के साथ चाय पीते बिता सके।

अगर आप अपने परिवार के उस सदस्य के तोहफा ढूंढ रहे है जिसे चाय बहुत पसंद है तो आपको दिल्ली से भारतीय चाय पत्ती खरीद लेनी चाहिए। दिल्ली ऐसे दुकानों से भरा पड़ा है जिनके पास विविध प्रकार के स्वाद वाले चाय पत्ती उपलब्ध है। आप साधारण चायपत्ती भी खरीद सकते है या फिर मसाला चाय या अदरक, नींबू, सेब, दालचीनी स्वाद भी चुन सकते है। आपको मित्तल टी हाउस जो लोदी कॉलोनी, नई दिल्ली में स्थित है, पर चाय पत्ती के अच्छे सौदे मिल जायेंगे। यह सुबह 10 बजे से 8 बजे रत तक खुला रहता है।

सिल्वर जेवेलरी

आभूषण महिलायो का हमेशा से पसंदीदा रहा है और तब तक बाजार से बहार नहीं निकलती है जब तक एक आभूषण खरीद न ले। आपको पूरी दिल्ली में अलग अलग प्रकार के आभुषण मिल जायेंगे लेकिन दिल्ली चाँदी से बने आभूषणों के लिए मशहूर है। ये चाँदी से आकर्षक और नए किश्म के आभूषण बनाने में माहिर है। अगर आपको आभूषण पहनना पसंद है तो आपको चाँदी के आभूषण दिल्ली से खरीदना चाहिए। चाँदी सुन्दर और सस्ती होती है और आपको दिल्ली में विभिन्न प्रकार में अच्छे सौदे मिलेंगे। अगर आप दिल्ली से बहुशन खरीदने के बारे में सोच रहे है तो आपको दरीबा कलां, चंदिनि चौक या जनपथ से चाँदी के आभूषण खरीदने चाहिए।

ओल्ड मोंक रम

Source scroll.in

अगर आप व्यवस्या के सिलसिले में दिल्ली आयी है और आपको समझ नहीं आ रहा कि अपने पति के लिए क्या ख़रीदे? ज्यादा मत सोचिये तुरंत एक ओल्ड मोंक रम की बोतल खरीद लीजिये और उन्हें खुश कर दीजिये। आपके पति इस तोहफे के लिए आपको कई बार शुक्रिया कहेंगे और इस बारे में अपने मित्रो का भी बताएँगे। ओल्ड मोंक रम, मोहन मैकिन्स का 60 साल पुराना भारतीय ब्रांड है। यह गुड़ के गहन स्वाद के साथ आता है और आप इसे मोहन नगर, ग़ज़िआबाद से खरीद सकते है।

मीनाकारी एंड कुंदन जेवेलरी

मीनाकारी एंड कुंदन के आभूषण दिल्ली से खरीदने योग्य दूसरी अच्छी चीजों में से है। अगर आप एक ऐसी सख्शियत है जिसे आभूषण पहनना बहुत ज्यादा पसंद है तो आपको मीनाकारी एंड कुंदन के बनाये सुन्दर आभुषण एक बार जरूर खरीदना चाहिए। आपको अतुलनीय, आकर्षक और साथ ही स्टाइलिश झुमके, हार, अंगूठियां, कंगन, पायल और भी कई चीजे दिल्ली में मिल जाएँगी। ये मित्र और बहनो का देने के लिए अच्छे उपहार बनाते है। ये बहुत ही सुन्दर बनाये जाते है और हर साइज में आते है जिन्हे आप कभी भी या औपचारिक अवसरों पर भी पहन सकते है। मीनाकारी जेवेलरी उपहार में देने से आपका अपनी बहन का साथ रिश्ता ओर भी गहरा हो जायेगा ओर वो लम्बे समय तक खुश रहेगी। इन्हे किसी देखरेख की आवश्यकता नहीं होती और इन्हे कही ले जाना या लाना आसान है। ये कई मूल्यों में आते है; आपको मीनाकारी जेवेलरी 2000 से 10000 के बिच में मिल जायेंगे और आप इन्हे चांदिनी चौक, नई दिल्ली के टीटू जेवेलर्स से खरीद सकते है।

इत्र

अगर आपको इत्र पसंद है तो आपको दिल्ली में बने स्थानीय इत्र खरीदने चाहिए। यह इत्र प्राकृतिक सुगंधित तेल से बनाया जाता है जिसे वनस्पति स्रोतों से इकठ्ठा किया जाता है। इन्हे पानी में खिलने वाले फूलो की पंखुड़ी से बनाया जाता है और फिर इन्हे हलकी आंच पर गरम करके, इन्हे खुसबू उप्टन करने तक रखा जाता है। इनमे से कुछ में विदेशी लकड़ी और मसलो का इस्तमाल किया जाता है खुसबू उत्पन करने के लिए। इत्र बनाने की प्रक्रिया थोड़ी लम्बी होती है इसलिए ये थोड़े महंगे होते है। ये इत्र प्राकृतिक उत्पादनो को हफ्तों तक उबालकर फिर इन्हे चन्दन के तेल के कंटेनर में इकठ्ठा किया जाता है। फिर इस तेल को चन्दन के तेल के साथ मिलाया जाता है और ये जो खुसबू उत्पन्न करता है वह कपडे धोने के बाद भी कई दिनों तक रहता है।

अगर आप दिल्ली से सही इत्र खरीदना चाहते है, तो आपको गुलाबसिंह जोहरीमल के यहाँ जाना चाहिए जो 200साल पुरानी दुकान है और जो पूरी तरह शुद्ध और वास्तविक इत्र बनाते है। आप अपने जरुरत अनुसार विविधता से चुन सकते है जैसे गर्मियों के लिए खस (खसखस) या सर्दियों के लिए मेंहदी। आपको यहाँ चमेली, गुलाब, स्ट्राबेरी, लैवेंडर, चेरी और के बने इत्र भी मिलेंगे।इन इत्र का मूल्य 2000 रु 10 ग्राम के लिए से शुरू होता है, आप मिश्रित तेल भी खरीद सकते है जिनका मूल्य 120 रु 10 ग्राम का है या फिर जरुरति तेल जिनका मूल्य 30 रु,10 ग्राम का है गुलाबसिंह जोहरीमल, दरीबा कलां, चांदिनी चौक पर स्थित है और सुबह 9:30 से रात 7 बजे तक रविवार छोड़कर खुला रहता है।

मसाले

अगर आपको खाना बनाना या नयी नयी चीजे कीचन में बनान पसंद है तो आपको दिल्ली से मसाले खरीदने चाहिए। दिल्ली में दुनिया का सबसे बड़ा मसलो का बाजार है और आपको यहाँ हर वो मसाला मिलेगा जो आप जानते है। मसाले जैसे काली मिर्च, भूरे सरसों के बीज, मेथी के पत्ते, काला इलाची (काली इलायची) और हींग आपको यहाँ आसानी से मिल जायेंगे।

आपको यहाँ हर मसाले हर मैप में चाँदी रंग के पैकेट में पैक मिल जायेंगे जिन्हे आप बिना चिंता के, बेग या कपड़ो में में गिराए बिना कही भी ले जा या ला सकते है। यहाँ मिलने वाले विविध प्रकार के सस्ते और अच्छे मसालो के कारन आपको इस बाजार से प्यार हो जाएगा। दिल्ली में मसलो का जादू अनुभव करने के लिए आपको एक बार खरी बाओली जरूर जाना चाहिए। यह बाजार सुबह 10:30से रात 7:30बजे तक रोज खुलता है। अगर आप पैकिंग किये हुए मसाले ढूंढ रहे है तो आपको करोल बाघ के रूपक और फतेहपुरी मस्जिद के करीब स्थित मेहर चाँद एंड संस जरूर जाना चाहिए।

अष्टधातु स्टेचुस (आठ धातुओं की मुर्तिया)

हिन्दू भगवानो की मुर्तिया उपहार में देना बहुत पुरानी भारतीय परम्परा है और आपको दिल्ली में आठ धातुओं से बानी सुन्दर मुर्तिया आसानी से मिल जाएँगी। अष्टधातु हिन्दू धर्म में एक शुभ धातु है और एक अच्छा उपहार मन जाता है क्युकी ये बुरी ताकतों को आपके घर से दूर रखती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा लाती है। अष्टधातु सोना, चांदी, तांबा, सीसा, पीतल, पारद, लोहा और टिनसे मिलकर बनता है। अष्टधातु बनाना एक कठिन प्रक्रिया है और भारत में एक दुर्लभ शिल्प माना जाता है। आपको यहाँ भगवन कृष्णा और शिव के अष्टधातु मुर्तिया मिलेंगी जिन्हे आप अपने प्रियजनों के लिए एक विशेष उपहार के रूप में ला सकते है।आपको दरीबा कलां, दिल्ली में अश्तदहतु से बनी बेहतरीन मुर्तिया मिलेंगी। इन मूर्तियों का मूल्य 6 या 7 इंच लम्बी मूर्तियों के लिए 3000 रु है।

उत्तम हस्तशिल्प

अगर आपको हाथ से बने चीजों का संग्रह करना पसंद है तो किसी भी जगह जहा आप गए है उससे ज्यादा आपको दिल्ली पसंद आएगी। दिल्ली में ऐसे बहुत सी जगहे है जहा आपको हाथ से बने आभूषण, हाथ से बने बैग, शो पीस, खादी के कपड़े और भी बहुत सी चीजे मिलती है। आपको ये वस्तुएं लगभग हर बाजार में सड़क के किनारे या दुकानों में खूबसूरती से सजी हुई मिल जाएंगी। आप हाथ से बनी सुन्दर चीजों को खरीदने के लिए स्टेट एम्पोरियम, दिल्ली हाट, क्राफ्ट म्यूजियम और केंद्रीय कुटीर उद्योग भी जा सकते है और अपना संग्रह बढ़ा सकते है।

खरीदारी के लिए दिल्ली की सबसे अच्छी जगहे

    दिल्ली घूमने के लिए अच्छी जगह है क्युकी ये आपको बहुत सी चीजे प्रदान करता है। आपको यहाँ अच्छा खाना, ऐतिहासिक इमारते, पब और बाजार देखने को मिलेगा। अगर आपको खरीददारी पसंद है तोह दिल्ली आपके लिए बिलकुल सही है। इसे खरीददारों का जन्नत खा जाता है। यहां दिल्ली के कुछ बेहतरीन बाजारों की सूची दी गई है, जहा आप तब तक खरीदारी कर सकते है जब तक आप गिर न जाएं।

    1. दिल्ली हाट
  • ये एक बड़ा बहार है जहा बड़ी सुंदरता से दुकाने सजी रहती है, जो आपको भारतीय सभ्यता के दर्शन कराएगी। आपको यहाँ सस्ते दामों पर अच्छे हस्तशिल्प के नमूने और चीजे मिल जाएगी। इस बाजार तक पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी मेट्रो स्टेशन है जहा से आप पैदल ही बाजार जा सकते है। यह सुबह 11 से रात 10 बजे तक खुला रहता है। आपको एक ही जगह पर खूबसूरत गहने, पेंटिंग, मिट्टी के बर्तन, फर्नीचर और कई सारी चीजें मिल जाएंगी।
  • 2. जनपथ मार्किट
  • दिल्ली में देखने योग्य अन्य बाजार है जनपथ। यह चमड़े की वस्तु, भारतीय कलाकृतियों, जूतों, नकली गहनों आदि के लिए प्रसिद्ध है। अगर आप जल्दी में है तो जनपथ बाजार जाइये और सस्ते दामों पर चीजे खरीदिये।जनपथ को तिब्बती बाजार भी कहा जाता है क्योंकि आपको यहाँ बहुत सारे तिब्बत हस्तशिल्प मिल जायेंगे।आप जनपथ, राजीव चौक मेट्रो स्टेशन से पहुंच जायेंगे। यह सुबह 10 से रात 9 बजे तक खुला रहता है।
  • 3. खान मार्किट
  • अगर आपको गली बाजारों से खरीदना अच्छा लगता है तोह आपको खान मार्किट आना चाहिए। यह बाजार आयुर्वेदिक दवाओं, किताबों, कास्मेटिक आदि के लिए प्रसिद्द है। आपको यह बाजार पसंद आएगा क्योंकि यह सस्ती कीमतों में हर किसी के लिए कुछ न कुछ है। आप खान मार्किट दिल्ली हाट से ही पहुंच सकते है क्युकी दोनों ही एक दूसरे के बहुत करीब है। यह रविवार छोड़कर सुबह 10 से रात 11 बजे तक खुला रहता है।
  • 4. चांदनी चौक
  • दिल्ली में यह बाजार अवश्य जाने लायक है। यह सबसे पुराने बाजारों में से एक है जो अभी भी प्रसिद्द है। आपने इसे कई भारतीय सिनेमाओं में भी देखा होगा। इस बाजार में बहुत सारे संकरे मार्ग और गलियाँ हैं, जो अच्छी दुकानों की ओर ले जाती हैं जो विभिन्न प्रकार के कपड़ों, शादी के लहंगे, कढ़ाई वाले बैग, किताबों आदि के लिए प्रसिद्ध हैं। आपको यहाँ खूबसूरत चाँदी के चीजे भी मिलेंगी। यह पुरे सप्ताह खुला रहता है। आप मेट्रो के जरिए चांदनी चौक पहुंच सकते हैं या पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से टैक्सी ले सकते हैं।
  • 5. कनौट प्लेस
  • दिल्ली में सबसे अधिक हलचल वाले बाजारों में से एक कनॉट प्लेस है जिसे सीपी के नाम से भी जाना जाता है। अगर आपको ब्रांडेड चीजे खरीदना पसंद है तो सीपी आपके लिए एक अच्छी जगह है। आपको यहां सभी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड और साथ ही सड़क विक्रेता भी मिल जाएंगे और यहाँ आसपास खाने के बहुत अच्छी दुकाने भी है। यह बाजार देर रात तक खुला रहता है।
  • 6. पालिका बाजार
  • अगर आप सीपी में है तो मशहूर पालिका बाजार जाना न भूले। ये एक भुगत बाजार है और पूरी तरह एयर कंडिशन्ड है और आपको यहाँ हर एक चीज मिलेगी। अगर आपको मोलभाव करना आता है तो आपको पालिका बाजार में कपड़ो, किताबो और इलेक्ट्रॉनिक्स पर अच्छे सौदे मिलेंगे। यह रविवार छोड़कर सुबह 10 से रात 7 बजे तक खुला रहता है।
  • 7. करोल बाघ मार्किट
  • अगर आप दिल्ली में है और करोल भाग नहीं गए तो आपका घाटा होगा। यह दिल्ली का सबसे पुराना खरीददारी का बाजार है और आपको यहाँ हर वो चीज मिलेगी जो आप सोच सकते है। आपको करोल बाग में सुन्दर सड़क किनारे दुकानें और ब्रांडेड शोरूम मिल जाएँगी। यह बाजार कास्मेटिक, किताबें, कपड़े, इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, बैग, जूते आदि खरीदने के लिए अच्छी जगह है। अन्य करीबी प्रसिद्ध बाजार को करोल बाघ के नजदीक में है, वे है गफ्फार मार्किट जो विदेशी चीजों के लिए मशहूर है, आर्य समाज रोड जो पुरानी किताबों के लिए मशहूर है, बैंक स्ट्रीट जो आभूषणों के लिए प्रसिद्द है। यह सोमवार छोड़कर सुबह 10 से रात 8 बजे तक खुला रहता है।
  • 8. संडे सेकंड-हैंड बुक मार्किट
  • अगर बिताबे पसंद है तो संडे सेकंड-हैंड बुक मार्किट चले आइये और सड़क के किनारे ढेर से हजारों नई और पुरानी किताबों को चुनें। यदि आप थोड़ा समय और मेहनत करेंगे, तो आप यहां कुछ बेहतरीन पुस्तकों के पहले संस्करण भी मिल जायेंगे और मोल भाव करना न भूले। यह रविवार को खुला रहता है पर यहाँ जाने का अच्छा समय सुबह 9:30 से 10:30 है वार्ना वे चीजे भी बिक जाएँगी जो आप खरीदना चाहते है।
From our editorial team

ढूंढिए और पाइए

दिल्ली एक बहुत ही खूबसूरत शहर है जो अपनी अलग-अलग मार्केट के लिए जाना जाता है । यहां की मार्केट में अनेकों चीजें ऐसी होती है जो हमने देखी भी नहीं होती । इसीलिए ट्राई करें कि आप ज्यादा से ज्यादा दिल्ली की मार्केट को एक्सप्लोर करें ताकि आपको भी कुछ खास मिल सके ।