क्या आपका आत्मविश्वास और आत्मसम्मान कम हो गया है रुसी के वजह से (2020)?अपने बालों पर इन 5 सबसे अच्छे एंटी डैंड्रफ शैंपू आज़माएं और घरेलू उपचारों की एक सूची जो आपको रूसी से पूरी तरह से छुटकारा पाने में मदद करेंगे।

क्या आपका आत्मविश्वास और आत्मसम्मान कम हो गया है रुसी के वजह से (2020)?अपने बालों पर इन 5 सबसे अच्छे एंटी डैंड्रफ शैंपू आज़माएं और घरेलू उपचारों की एक सूची जो आपको रूसी से पूरी तरह से छुटकारा पाने में मदद करेंगे।

यदि आप एक महिला हैं और अपने बालों के लिए कुछ विरोधी रूसी शैंपू की तलाश कर रही हैं तो यह लेख आपके लिए है। इस लेख में हमने आपको बाजार में सर्वश्रेष्ठ 5 एंटी डैंड्रफ शैंपू के बारे में बताया और आपको 5 प्राकृतिक उपचारों के बारे में बताया जो आपके बालों को पूरी तरह से ठीक कर सकते हैं। हमने आपको अपने बालों की देखभाल करने के तरीके के बारे में भी जानकारी दी है।

रूसी क्या है?

डैंड्रफ होने के बारे में हम सिर्फ इतना जानते हैं कि, यह सफेद, परतदार, बर्फ जैसा गाद या तलछट होता है - जो हमारे बालों और कंधों की सतह पर जमा हुआ पाया जाता है| लेकिन यह रूसी की एक सतही परिभाषा है। वैज्ञानिक परिभाषा यह है कि यह आपकी खोपड़ी की सूखी और मृत त्वचा कोशिकाएं हैं। यह एक आम घटना है और इतनी गंभीर भी नहीं है, लेकिन यह लोगों से मिलते वक्त यह बहुत शर्मिंदगी का कारण बन सकता है। कुछ लोगों के सरपर सामान्य लोगों की अपेक्षा जादा रुसी होती है क्योंकि रुसी होने के कई अन्य कारण भी होते हैं| समस्याका मूल जानने से इससे छुटकारा कैसे पाए यह तय होता है| रुसी के बारे में बीपी गाइड के लेख को डिटेल में समझे और जन ले कैसे रुसी से छुटकारा पाए|

डैंड्रफ के सबसे आम 5 कारण

डैंड्रफ के कई कारण हैं। उनमें से 5 सबसे आम यहाँ सूचीबद्ध हैं। वे इस प्रकार हैं- सूखी त्वचा होना, नियमित रूप से आपकी खोपड़ी की सफाई नहीं करना, प्रदूषण और वैद्यकीय बीमारी के कारण| इसमें से किसी एक से या एक के साथ दुसरे के संयोग से रुसी होती है| तो आइये हम इन कारणों की विस्तार से चर्चा करें:

रूखी त्वचा

जिन लोगों की त्वचा शुष्क होती है उनमें डैंड्रफ होने की संभावना उन लोगों की तुलना में अधिक होती है जिनकी स्काल्प की त्वचामे नमी होती है| वास्तव में रुसी स्काल्प से निकले हुए मृत और सूखे त्वचा के गुच्छे होते हैं, इसलिए जितनी त्वचा सुखी उतनी रुसी जादा होती है| इसी कारण सर्दी के मौसम में रुसी की समस्या जोर धरती है क्योंकि ठण्ड से स्काल्प की त्वचा रुखी होने लगती है| इस समस्या का समाधान करने के लिए जाहिर है कि, आप को अभूत जादा पानी पीना चाहिए| और आपको नमी से भरपूर रहना चाहिए| अगर रुसी की समस्या गंभीर है तो आपको अतिरक्त नमी के लिए मोईसचरायजिंग शैम्पू इस्तेमाल करना चाहिए|

बालों की अनियमित देखभाल करना

रूसी का सबसे बड़ा दोषी हमारी अपनी आदतें (या इनकी कमी) है हम सब आलस्य की वजह से दोषी है कि हम अपने खुद की देखभाल भी अच्छी तरह से नहीं करते| अगर किसी दिन हमें कहीं बाहर जाना नहीं है तो हम दिन में एक बार भी बाल संवारने का कष्ट नहीं करते| इससे रुसी होती है| कंघी करने से स्काल्प से मृत त्वचा अपने आप बाहर फेंकी जाती है, और अगर अपने कंघी करना टाल दिया तो स्काल्प पर मृत त्वचा जमा होती है और संक्रमण से रुसी बढती है| और भी एक बात है, हमें नियमित रूप से बलोंको शैम्पू करना चाहिए| इससे स्काल्प साफ़ सुथरा रहता है| अगर आप रोज बाहर जाते हैं तो आपको रोज शैम्पू करना चाहिए| अगर गृहिणी है तो हप्ते में दो बार शैम्पू करना चाहिए| नियमित शैम्पू करने से स्काल्प साफ़ रहकर अतिरिक्त तेल को हटाता है और रुसी को रोकता है|

प्रदूषण

Source food.ndtv.com

प्रदूषण हमारे स्वास्थ्य और त्वचा की अधिकांश समस्याओं का मूल कारण है। तो, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं कि, यह रुसी के लिए भी जिम्मेदार है| प्रदुषण स्काल्प को धुल और गन्दगी की एक परत का आच्छादन करता है, जिससे स्काल्प की मृत त्वचा को आसानी से हटाने से रोकता है| आगे चलकर यह स्काल्प को और भी रुखा बनता है जिससे रुसी बढ़ती है|

बुनियादी वैद्यकीय स्थिति

Source skinkraft.com

डैंड्रफ के उपरोक्त तीन कारणों को हाइड्रेशन, उचित संवारने और अपने आप को प्रदूषकों के संपर्क में नहीं लाने के लिए देखभाल करने से दूर किया जा सकता है, लेकिन ऐसा करने के बाद भी अगर आपके पास अभी भी गंभीर रूसी है, तो इसका कारण यह हो सकता है कि, आपको कुछ बुनियादी बीमारी है| सेबोह्रिक डर्मिटीस यह एक ऐसी बीमारी है| यह ऐसी जीर्ण चिरकालीन बीमारी है जो न केवल स्काल्प को लेकिन जिधर भी तैलीय त्वचा है वहां असर करती है| इसके लक्षण में त्वचापर एक्झिमा और सोरायसिस जैसे बाकि बीमारी जैसे रुसी और लाल चप्पते आते हैं| अगर आपके स्काल्प पर ऐसे लक्षण दिखने लगे तो पहला कदम यह है कि, आप तुरंत डॉक्टर की सलाह लें|

खमीर अतिवृद्धि

एक कवक है जो हमारी त्वचा और खोपड़ी पर रहता है। इसमें शर्म की कोई बात नहीं, क्योंकि यह नेचुरल है| कवक का कोई बुरा असर भी नहीं होता| मगर जब यह जरुरत से जादाबढ़ने लगे तो यह त्वचा के सेबोह्रिक दर्मितिस सोरायसिस और ऐसे कई रोगों को आमंत्रण देते हैं| इसलिए इनका जादा बढ़ना जटिल समस्याएं पैदा करती हैं| जाहिर है इनपर सिर्फ चिकित्सा के जरिये इलाज करना चाहिए| अपने आप को किसी मजबूत त्वचा के देखभाल में पुरे सालभर रखने से कवक की जादा वृद्धि को रोक सकते हैं|

डैंड्रफ के 5 प्राकृतिक उपचार

किसी भी स्थिति के प्राकृतिक उपचार को प्राथमिकता दी जानी चाहिए क्योंकि वे प्रभावी होते हैं और किसी भी तरह के दुष्प्रभाव में नहीं आते हैं। कई प्राकृतिक तत्व हैं जो रूसी का इलाज करते हैं और इसे फिर से होने से रोकते हैं। लेकिन प्राकृतिक तत्व गंभीर रूसी समस्या का इलाज नहीं कर सकते हैं। उसके लिए एक चिकित्सा निदान और परिणामी उपचार आवश्यक है। यदि आपकी स्थिति गंभीर नहीं है और आपके बालों और कपड़ों पर छोटे सफेद और भूरे रंग के परत जमा है, तो निम्नलिखित 5 प्राकृतिक उपचार काम में आएंगे:

लहसुन

डैंड्रफ के प्राकृतिक उपचारों की बात करते समय आपके दिमाग में आने वाली आखिरी चीज है, लहसुन! लेकिन इसमें एंटी-फंगल गुण होते हैं जिन से स्वास्थ्य लाभ बहुत अधिक मिलता हैं। कच्चे लहसुन के रस से हमारे स्काल्प और त्वचा को काफी लाभ होता है। रूसी के मामले में, लहसुन के एक दस्ताने को थोड़े से पानी के साथ कुचल कर इसकी एक चिकनी पेस्ट करें| पेस्ट को अपने स्कैल्प पर लगाएं और इसे शैम्पू से धोने से पहले 15 मिनट तक रखें। इस उपाय में एकमात्र समस्या यह है कि, लहसुन में तीखी गंध होती है जिसे कोई कोई सहन नहीं कर पाते| यदि आप कच्चे लहसुन की गंध को सहन नहीं कर सकते हैं, तो उपरोक्त पेस्ट में एक चम्मच शहद या बारीक कटा हुआ अदरक मिलाएं।

नारियल तेल और नींबू

नारियल का तेल बालों के लिए फायदेमंद है, यह सामान्य ज्ञान है। यह एक अच्छा मॉइस्चराइज़र है जो बालों के लटों को पोषण और नमी देता है। नारियल के तेल में ताजा नींबू का रस मिलाने से आपके पास एक प्राकृतिक एंटी डैंड्रफ उत्पाद तैयार मिलता है। नारियल तेल के 2 बड़े चम्मच गरम करें और इसमें 2 चम्मच ताज़ा निचोड़ा हुआ नींबू का रस डालें। नारियल तेल और नींबू के रस को बराबर भागों में मिलानना चाहिए| धीरे से इस तेल से स्कैल्प पर मालिश करें, इसे 20 मिनट तक रखें और इसे शैम्पू से धो ले| आप रूसी को दूर करने के लिए केवल नींबू का रस भी लगा सकते हैं लेकिन यह उचित नहीं है क्योंकि नींबू अत्याधिक अम्लीय है। एक मॉइस्चराइजिंग एजेंट के अलावा नारियल तेल भी लगाना सबसे अच्छा है।

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा एक प्राकृतिक एक्सफ़ोलीएटिंग एजेंट( खाल उतारनेवाला) है। यह जलन पैदा किए बिना धीरे से हमारे शरीर से मृत त्वचा कोशिकाओं को बाहर निकालता है। इसमें एंटी-फंगल गुण भी होते हैं। किसी भी भावी रूसी प्रकोप को रोकने के लिए नियमित रूप से स्काल्प को एक्सफोलिएट करना आवश्यक है। यदि आपको सामान्य रूप से रूसी है, तो अपने स्कैल्प को शैम्पू से नियमित रूप से धोते रहना चाहिए| लेकिन अगर आपका डैंड्रफ सामान्य से अधिक जादा है, तो बेकिंग सोडा लेकर आप के स्काल्प पर से मृत त्वचा कोशिकाओं को बाहर निकालने की सिफारिश की जाती है। बेकिंग सोडा के 2 बड़े चम्मच लें और इसमें पर्याप्त पानी डालें ताकि यह एक धब्बेदार पेस्ट बन जाए। गोल गति में अपनी उंगलियों के साथ अपनी सर पर इसे धीरे से मालिश करें| इसे 30 मिनट तक लगा रहने दें बाद में शैम्पू से धो लें|

दही

रूसी को दूर करने में दही बहुत प्रभावी है। दही को स्काल्प पर लगाना बहुत आसान है। आपको बस इसे अपने स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह से लगाने की ज़रूरत है, इसे एक घंटे तक सूखने दें और फिर इसे शैम्पू से साफ कर लें। इस पद्धतिमें एक समस्या यह है कि यह गंदा लगता है और दही में एक अप्रिय गंध है। एक घंटे से अधिक समय तक इसे अपने बालों पर रखना आप घ्राणेंद्रीयों के तत्न्त्रिकाओं को एक भयंकर मुश्किल काम है।

अंडे की जर्दी

एक और गन्दा और बदबूदार प्राकृतिक घटक जो रूसी के खिलाफ अत्यधिक प्रभावी है। अंडे की जर्दी में बायोटिन नाम का एक विटामिन है जो रूसी की समस्याओं का इलाज करता है। अंडे की जर्दी एक अच्छा कंडीशनर भी है जो आपके बालों को लटों को स्वस्थ बनाता है| चार अंडों को फोड़ें और अंडे के छिलकों को सफेद हिस्से से अलग करें (ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप ऐसा कर सकते हैं:कैसे सीखें । एक चिकनी तरल बनने तक अंडे की जर्दी को फेंटे। फिर इसे अपने स्कैल्प और बालों पर लगाएं और अपने बालों को प्लास्टिक रैप से कवर करें। शैम्पू से धोने से पहले इसे एक घंटे के लिए रखें। अगर गंध नहीं जाती है तो अपने बालों को दो बार धोएं।

5 सबसे अच्छे रुसी- विरोधी शैंपू

हम में से हर एक के पास आराम से बिताने के लिए समय नहीं है। प्राकृतिक घटकों से रूसी का इलाज करने के लिए समय और पाल पोस की आवश्यकता होती है। प्राकृतिक उपचार एक रात में जलवा नहीं दिखातें| अपने आप का दुलार करने के लिए आपके पास कुछ समय और स्थान होना चाहिए। हममें से ज्यादातर लोगों ने व्यस्त जीवन बिताया है, जहां खुद के लिए समय निकालना मुश्किल है। पूरा हप्ता काम पर व्यस्त बिताया जाता हैं और हप्तेकी छुट्टियों में घर में काम करते हुए व्यतीत किया जाता है। बाकी समय, हम कुछ बहुत जरूरी नींद लेना चाहते हैं| इसलिए, हमें शैंपू की तरह रुसी - विरोधी सूत्रों के साथ ऐसे समाधान की आवश्यकता है जो कम समय लेने वाला हो और त्वरित परिणाम देता हो। । यहाँ 5 सर्वश्रेष्ठ रुसी विरोधी शैम्पू आप आज़मा सकते हैं:

हिमालय एंटी-डैंड्रफ शैम्पू

हिमालय का एंटी-डैंड्रफ शैम्पू इस उद्देश्य के लिए सर्वश्रेष्ठ शैम्पू में से एक है। शैम्पू के फार्मूले में एलोवेरा, छोले और टी त्रि के तेल के अर्क शामिल हैं, जो सभी हमारे बालों के लिए फायदेमंद हैं। एलोवेरा स्कैल्प को नरम बनाता है और बालों को मुलायम बनाता है और टी ट्री ऑयल में एंटी फंगल गुण होते हैं जो डैंड्रफ से प्रभावी रूप से लड़ते हैं। यह शैम्पू न केवल रूसी को दूर करता है बल्कि बालों को पोषण भी देता है। यह सभी प्रकार के बालों पर प्रभावी है, यहाँ तक कि रंगीन और स्टाइल वाले बालों पर भी। शैम्पू 5 प्रकार में आता है| 100 मिली, 200 मिली, 400 मिली, 700 मिली और 1 लीटर। इनकी कीमत क्रमश: रु. 75 , रु.140 , रु.245 , रु. 470 और रु. 675 है।

सोलट्री एंटी-डैंड्रफ शैम्पू

यह एक आरामदेह रुसी -विरोधी शैम्पू है। इसके सूत्र में नीम, आंवला, मेथिका और रीठा जैसे प्राकृतिक जड़ी बूटी के अर्क का एक आयुर्वेदिक मिश्रण है। सूत्र में नींबू के छिलके का तेल और एलोवेरा का अर्क भी होता है। जड़ी बूटी के अर्क स्वस्थ और मजबूत बालों के विकास के लिए खोपड़ी का पोषण करता है। नींबू के छिलके के तेल में कसैले गुण होते हैं और एलो वेरा के हाइड्रेटिंग गुणों के साथ, यह प्रभावी रूप से रूसी संचय का प्रतिकार करता है और खुजली और झड़ कम करता है| इसके सूत्र में पैराबेन, पेट्रोलटम, सीसा, सिलिकॉन, फथलेट्स और सिंथेटिक सुगंध जैसे रसायन शामिल नहीं हैं। इस शैम्पू के 250 मिलीलीटर की कीमत रु 525 |

मैट्रिक्स बायोलाज एंटी - डैंड्रफ शैम्पू

Source www.nykaa.com

इस शैम्पू के पेशेवर सूत्र में बायो कुशन कॉम्प्लेक्स और पाइरिथियोन जिंक शामिल हैं। वे प्रदूषकों को हटाते हैं और स्काल्प को साफ करते हैं जिससे बाद में रूसी के गठन को रोकथाम होती है| इसके अतिरिक्त यह बालों की किस्मों को नमी देकर मुलायम और चमकदार बनाता है। रूसी का एक प्रमुख कारण प्रदूषण है और यह शैम्पू इसके नकारात्मक प्रभावों का मुकाबला करने में सहायता देता है। कामकाजी पेशेवर जो सप्ताह में कम से कम 5 दिन काम करने के लिए यात्रा करते हैं और इसके लिए कई दिनों तक उन्हें प्रदूषण का सामना करना पड़ता है, उनके प्रसाधन कैबिनेट में यह शैम्पू होना ही चाहिए। यह शैम्पू सभी बालों और त्वचा के प्रकारों पर प्रभावी है। इस शैम्पू की 200 मिलीलीटर की कीमत रु 335 ।

द बॉडी शॉप जिंजर एंटी-डैंड्रफ शैम्पू

Source www.amazon.ae

द बॉडी शॉप के इस एंटी-डैंड्रफ शैम्पू में एक ऐसा फॉर्मूला होता है, जो प्राकृतिक घटकों के अर्क से भरा जाता है। इसमें अदरक, सफेद बेंत (विलो) की छाल, सन्टी छाल और इथियोपियाई शहद के अर्क शामिल हैं। यह शैम्पू स्काल्प पर एक ताजगीभरा और सुखदायक प्रभाव डालता है और रूसी हटाने के लिए सबसे अच्छा है। यह विशेष रूप से उन लोगों के लिए है जिनकी त्वचा सुखी है और परिणामस्वरूप सूखी और परतदार स्काल्प है। इस सभी प्राकृतिक शैम्पू के फार्मूले में कोई रसायन नहीं होता है और इसलिए किसी भी प्रकार के दुष्प्रभाव का डर नहीं होता है। यह सभी प्रकार की त्वचा के अनुरूप है। इस शैम्पू का 250 मिली लीटर की कीमत है रु.695 ।

बायोटीक नीम मारगोसा एंटी-डैंड्रफ शैम्पू

Source www.nykaa.com

मार्गोसा भारतीय आयुर्वेदिक उपचारों में काफी बार आता है। यह एक सदाबहार पौधा है जिसमें महान औषधीय गुण हैं और यह रूसी के खिलाफ प्रभावी होने के लिए जाना जाता है। यह बालों के स्वस्थ विकास को भी प्रोत्साहित करता है। बायोटीक के इस शैम्पू में एक फार्मूला होता है जो मार्गोसा और यूफोरबिया सैप्स, और भृंगराज और रीठा जड़ी बूटी के अर्क को संक्रमित करता है। यह मिश्रण एक शक्तिशाली रुसी विरोधी सत्त है। यह भी सूखापन, शाल्किभवन और खुजली को जो सभी रूसी से जुड़े हुए हैं उनको समाप्त करता है। इसके अलावा यह बालों को मुलायम और चमकदार भी बनाता है। यह शैम्पू सभी प्रकार की त्वचा और बालों के लिए उपयुक्त है और दैनिक उपयोग के लिए काफी कोमल है। इस शैम्पू की 200 मिलीलीटर की कीमत रु170 है।

From our editorial team

समय निर्धारित करना

हम आशा करते हैं कि हमने इस लेख के साथ आपकी मदद की होगी। यह भी ध्यान रखें कि इन शैंपू और प्राकृतिक उपचारों का आवश्यकता से अधिक उपयोग न करें। इन चीजों का उपयोग कब करना है इसके लिए आपको अपने लिए एक समय निर्धारित करना होगा।